होम Legal News Allahabad High Court ने कहा, 'सिंदूरदान व सप्तपदी शादी हिंदू परंपरा में...

Allahabad High Court ने कहा, ‘सिंदूरदान व सप्तपदी शादी हिंदू परंपरा में महत्वपूर्ण, चार्जशीट रद्द नहीं कर सकते’

Allahabad High Court ने हाल ही में माना कि हिंदू रीति-रिवाजों के तहत, एक पुरुष द्वारा एक महिला के माथे पर सिंदूर लगाने को एक पुरुष के उस महिला से शादी करने के वादे और इरादे को बताता है, जो एक महिला के लिए यह मानने के लिए पर्याप्त है कि वह वास्तव में उससे शादी करेगा।

न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल (Justice Vivek Agarwal) की खंडपीठ ने यह भी कहा कि एक महिला के माथे पर सिंदूर लगाना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सिंदूर लगाने वाले के इरादे को दर्शाता है कि उसने दूसरे व्यक्ति को अपने जीवनसाथी के रूप में स्वीकार कर लिया है।

हिंदू धर्म में सिंदूर का महत्वपूर्ण स्थान

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दुराचार के आरोपी के खिलाफ चार्जशीट व सी जे एम शाहजहांपुर द्वारा जारी सम्मन को रद्द करने से इंकार कर दिया है और याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा कि आरोपी का पीड़िता के माथे पर सिंदूर लगाना उसे पत्नी के रुप में स्वीकार कर शादी का वायदा करना है और सिंदूर दान व सप्तपदी हिंदू धर्म परंपरा में विवाह के लिए महत्वपूर्ण स्थान है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा कि सीमा सड़क संगठन में कनिष्ठ अभियंता विपिन कुमार को पारिवारिक परंपरा की जानकारी होनी चाहिए। जिसके अनुसार वह पीड़िता से शादी नहीं कर सकता था। फिर भी उसने शारीरिक संबंध बनाए। दुराशय से संबंध बनाए या नहीं,यह विचारण में तय होगा। इसलिए चार्जशीट रद्द नहीं की जा सकती। यह आदेश न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल ने विपिन कुमार उर्फ विक्की की याचिका पर दिया है।

याचिकाकर्ता की दलील

याचिकाकर्ता का कहना था कि सहमति से सेक्स करने पर आपराधिक केस नहीं बनता। पीड़िता प्रेम में पागल हो कर खुद हरदोई से लखनऊ होटल में आई और संबंध बनाए। प्रथम दृष्टया शादी का प्रस्ताव था। दुराचार नहीं माना जा सकता। किन्तु सिंदूर लगाने को कोर्ट ने शादी का वायदे के रुप में देखते हुए राहत देने से इंकार कर दिया।

Facebook में हुई थी दोस्‍ती

मालूम हो कि दोनों ने फेसबुक पर दोस्ती बढायी। शादी के लिए राजी हुए। पीड़िता होटल में आई और संबंध बनाए। बार बार फोन काल,मैसेज से साफ है पीड़िता ने प्रेम संबंध बनाए थे। कोर्ट ने कहा कि भारतीय हिन्दू परंपरा में मांग भराई व सप्तपदी महत्वपूर्ण होती है। शिकायतकर्ता की भाभी अभियुक्त के परिवार की है।
शादी का वायदा कर संबंध बनाए। यह पता होना चाहिए था कि परंपरा में शादी नहीं कर सकते थे। सिंदूर लगाने का तात्पर्य है कि पत्नी के रूप में स्वीकार कर लिया है। ऐसे में चार्जशीट रद्द नहीं की जा सकती।

यह भी पढ़ें

बाबरी मस्जिद विध्वंस: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जोशी का बयान दर्ज

Gyannvapi Masjid-Kashi Vishwanath Mandir मामले में Allahabad High Court का फैसला, मस्जिद परिसर के ASI सर्वेक्षण पर रोक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Raghav Chadha ने Navjot Singh Sidhu को पंजाब की राजनीति की राखी सावंत कहा, हुए Troll

अगले साल 5 राज्‍यों में विधानसभा के चुनाव होने वाले है। 5 राज्‍यों में एक प्रमुख राज्‍य पंजाब भी है। इसलिए यहा पर भी राजनीतिक सरगर्मी तेज है। सभी पार्टियां किसानों के मुद्दे पर एक दूसरे पर हमलावर है। आज आम आदमी पार्टी (AAP) के पंजाब सह प्रभारी और दिल्ली के विधायक Raghav Chadha ने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को पंजाब की राजनीति की राखी सावंत (Rakhi Sawant) कह दिया है।

Allahabad High Court बार एसोसिएशन से आयकर वसूली मामले में आयकर विभाग को पुन: विचार करने का दिया आदेश

Allahabad High Court ने 40 लाख रुपये के आयकर वसूली मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन से दायर याचिकाओं को आयकर...

Padmanabhaswamy temple के खातों के ऑडिट मामले में Supreme Court ने फैसला रखा सुरक्षित

श्री पद्मनाभ स्वामी नारायण मंदिर के खातों के ऑडिट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। आज वरिष्ठ वकील अरविंद दातार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश ट्रस्ट के लिए नही बल्कि केवल मंदिर के ऑडिट के लिए पारित किया गया था।

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री Anil Deshmukh के ठिकानों पर Income Tax Department का छापा

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री Anil Deshmukh की मुसीबतें और बढ़ती जा रही है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) के बाद अब आयकर विभाग (Income Tax Department) ने शुक्रवार को उनसे जुड़ी परिसरों की तलाशी ली।