UP Election 2022: Anurag Thakur ने बागपत में कहा, ‘अखिलेश भाई सुनो, तुम दंगे कराते हो, हम दंगल कराते हैं’

0
135

UP Election 2022: केंद्रीय खेल मंत्री Anurag Thakur ने आज राष्ट्रीय लोकदल के जयंत चौधरी के अखाड़े में अखिलेश यादव को चुनौती दी।

बागपत में एक कुश्ती प्रतियोगिता में पहुंचे केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। बागपत के सिखेड़ा गांव में सांसद खेल प्रतियोगिता के आयोजन के मौके पर अनुराग ठाकुर ने कहा, सांसद खेलों को बढ़ावा दे रहे हैं और ऐसे आयोजनों पर अखिलेश यादव अंगुली उठा रहे हैं।

अनुराग ठाकुर ने कहा, ‘बागपत के लोग दंगल चाहते हैं, दंगे नहीं’

उन्होंने सपा सुप्रीमो पर तंज कसते हुए कहा, ‘सांसद खेल स्पर्धा के ज़रीए अगर हम खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका दे रहे हैं, नशे से दूर रख रहे हैं तो क्या बुराई है? अखिलेश भाई सुनो, तुम दंगे कराते हो, हम दंगल कराते हैं। बागपत के लोग दंगल चाहते हैं, दंगे नहीं’

अनुराग ठाकुर ने सिखेड़ा में सबसे बड़ी डेढ़ लाख रुपये की कुश्ती दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम के पहलवान मोनू और मथुरा के पहलवान उमेश के बीच हाथ मिलाकर शुरू कराई। इस मौके पर अनुराग ठाकुर के साथ यूपी भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद थे।

अनुराग ठाकुर ने इस मौके पर कहा कि यदि आप पदक विजेताओं को देखेंगे तो पाएंगे कि वे बहुत संपन्न घरों से नहीं हैं, लेकिन जिनके पेट में आग है और कुछ करने व हासिल करने की भावना है, ग्रामीण क्षेत्रों के वही लोग भारत के लिए पदक जीत रहे हैं।

अनुराग ठाकुर ने दिल्ली चुनाव में भी विवादास्पद बयान दिया था

भाजपा के फायरब्रांड नेता के तौर पर पहचाने जाने वाले अनुराग ठाकुर अक्सर अपने बयानों के कारण विवादों में बने रहते हैं, दिल्ली विधानसभा की चुनावी रैली में एक जनसभा में शाहीनबाग को लेकर भी उन्होंने एक आपत्तिजनक नारा दिया था, जिसकी हर तरफ आलोतना हो रही थी।

अनुराग ठाकुर ने भीड़ से ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो ….. को’ के नारे लगवाए। इसी के साथ उन्होंने कहा कि गद्दारों को भगाने के लिए नारे जरूरी हैं। उस मामले में चुनाव आयोग ने भी अनुराग ठाकुर के बयान पर संज्ञान लिया था।

गौरतलब है कि बीते महीने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में इसी तरह से दंगल के कार्यक्रम का आयोजन था। आयोजक थे मोदी सरकार के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी और उस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य।

इस दंगल से पहले किसान आंदोलनकारियों और मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के बीच हिंसक झड़प हो गई थी, जिसमें 4 किसानों समेत कुल 9 लोग मारे गये थे। इस घटना के बाद से आशीष मिश्रा जेल की सलाखों के पीछे हैं। किसान मांग कर रहे हैं कि प्रदानमंत्री नरेंद्र मोदी अजय मिश्रा को तत्काल प्रभाव से अपने मंत्रीमंडल से हटाये और उन्हें भी इस हत्याकांड में गिरफ्तार किया जाए।

इसे भी पढ़ें: अनुराग ठाकुर के ‘गोली मारो…’ वाले नारे पर चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here