Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

एशेज के बाद भारत-पाकिस्तान सीरीज को टेस्ट क्रिकेट का सबसे रोचक मुकाबला माना जाता है। लेकिन दोनों देशों में जारी तल्खी के बीच पिछले कई सालों से यह द्विपक्षीय सीरीज संभव नहीं हो पा रहा है। अब यह दोनों देश सिर्फ आईसीसी टूर्नामेंट्स में एक-दूसरे से भिड़ते हैं। आईसीसी द्वारा टेस्ट चैंपियनशिप की घोषणा करने के बाद क्रिकेट प्रेमियों को उम्मीद थी कि भारत-पाक मुकाबला फिर से संभव हो सकेगा, लेकिन भारत सरकार के सूत्रों के अनुसार यह संभव नहीं दिख रहा।

सूत्रों के अनुसार भारत सरकार पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह के क्रिकेट खेलने के पक्ष में नहीं है। इसलिए दोनों देशों के बीच कोई भी सीरीज फिलहाल मुश्किल दिख रही है।

गौरतलब है कि आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत-पाकिस्तान के बीच सीरीज खेली जानी है। इस संबंध में बीसीसीआई के अधिकारियों ने खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से मुलाकात की थी। लेकिन राठौड़ ने इस संबंध में कोई सकारात्मक संकेत नहीं दिए।

बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि यह महज एक शिष्टाचार भेंट थी और काफी पहले से ही तय थी। राठौड़ के पदभार संभालने के बाद से बीसीसीआई अधिकारी उनसे मिलना चाहते थे और उन्हें बधाई देना चाहते थे। हालांकि उनसे पाकिस्तान से क्रिकेट संबंध के बारे में भी बात की गई। उन्होंने कहा, पाकिस्तान के साथ खेलने या नहीं खेलने का मामला खेल मंत्रालय का ही नहीं, बल्कि पीएमओ और गृह मंत्रालय का होगा।

आपको बता दें कि बीसीसीआई ने 2014 में पीसीबी के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत 2015 से 2023 के बीच उन्हें छह द्विपक्षीय सीरीज खेलना है। हालांकि भारत पाकिस्तान के बीच आए रिश्तों में तल्खी के बाद अभी तक एक भी सीरीज नहीं खेला जा सका है। भारत ने 2012-13 में अपनी धरती पर दो टी-20 और तीन वनडे मैचों की सीरीज के बाद से पाकिस्तान के साथ कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.