Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा देने और आतंकवादियों को अपने देश में पनाह देने को लेकर पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर घिरता जा रहा है। पाकिस्तान के कई दावे झूठे साबित हो रहें हैं और उसका असली चेहरा बेनकाब हो रहा है। पाकिस्तान को दुनिया से अलग-थलग करने की भारत सरकार की रणनीति कामयाब होती दिख रही है। लेकिन इतना कुछ हो जाने के बाद भी पाकिस्तान सुधरने का नाम नही ले रहा है। अपनी झूठी छवि बचाने के लिए फर्जी वीडियों तक जारी कर दे रहा है।

गुरुवार 25 मई को एपीएन न्यूज के खास कार्यक्रम मुद्दा में दो अहम विषयों पर चर्चा हुई। इसके पहले हिस्से में पाकिस्तान की नापाक हरकतों पर चर्चा हुई। इस अहम मुद्दे पर चर्चा के लिए विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे। इन लोगों में गोविंद पंत राजू( सलाहकार संपादक एपीएन न्यूज), डॉ हिलाल नकवी ( प्रवक्ता कांग्रेस), बालेश्वर त्यागी ( नेता बीजेपी), प्रफुल्ल बख्शी ( रक्षा विशेषज्ञ), रिटायर्ड मेजर जनरल एस पी सिन्हा (रक्षा विशेषज्ञ)जे के त्रिपाठी (पूर्व राजनयिक) शामिल थे।

डॉ हिलाल नकवी ने कहा कि निश्चित रुप से भारत सरकार इस कोशिश में लगी है कि पाकिस्तान के जो नापाक इरादे हैं उनको रोका जा सके और अंतरराष्ट्रीय रुप से सामने लाया जा सके। बेशक भारत को इसमें सफलता मिली है जिस तरह से ईरान और अमेरिका ने भारत का साथ दिया है वो भारत सरकार की पाकिस्तान के ऊपर कूटनीतिक विजय है । सेना ने भी जिस तरह से उनके बंकर के ऊपर अटैक किया है वो भी सराहनीय है।

जे के त्रिपाठी ने कहा कि ये बहुत ही संवेदनशील व महत्वपूर्ण मुद्दा है। अगर भारत इसमें सफल रहता है कि अमेरिका जैसे देश भी पाकिस्तान को फंडिंग करना बंद करें या फंडिंग को कर्ज के तौर पर बदल दे ताकि पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति पर दबाव पड़े। इससे कम से कम पाकिस्तान के हुक्मरान ये समझने को विवश हो जायेंगे की उनका हित कहाँ है।

प्रफुल्ल बख्शी ने कहा कि पाक की हालत वाकई में दयनीय है ICJ का आपने देख लिया कि क्या हुआ उनको वहां मुंह की खानी पड़ी। पाकिस्तान को अब लगने लगा है कि चीन उसका साथ नही दे रहा है। पाकिस्तान और चीन अंदर से नाखुश हैं। पाकिस्तान की सेना की बौखलाहट आपे से बाहर जा रही है उनको धैर्य रखना चाहिए अगर वो कुछ काम करना चाहे।

एस पी सिन्हा ने कहा कि जो पाकिस्तान के द्वारा वीडियों दिखाया गया इसके दो पहलू है सत्य क्या है और ऐसा वीडियो क्यों दिखाया गया। ये सरासर पाकिस्तान का झूठ है। पाकिस्तान ऐसा इसलिए कर रहा है क्योंकि सोशल मीडिया में पाकिस्तान के जो बंकर तबाह किये गये हैं वो पहुंच चुका है। जो पाकिस्तान की सेना ये कहती रही है कि हम अजेय हैं हमसे बेहतर कोई नही। ये छवि है तुम हिन्दुस्तान के सामने घुटने टेक रहे हो ये छवि पाकिस्तान के लिए चिन्ता का विषय है। ये वीडियो उस छवि को छिपाने के लिए है।

गोविंद पंत राजू ने कहा कि जो कश्मीर के अंदर हुआ है उससे चीजें बिल्कुल साफ हो गई हैं कि पैसा कश्मीर में घाटी के अंदर लोगों को भड़काने के लिए पाकिस्तान दे रहा है। ये बात किसी से छिपी नही है लेकिन जो POK के अंदर हम देखते हैं वो पाकिस्तान का एक और चेहरा दिखाता है।

आनंद लाल बनर्जी ने कहा कि अपराध कभी भी एकदम नेस्तनाबूद नही हो सकता है। पुलिस अगर लगातार कार्रवाई करती जायेगी तो अपराध दिन पर दिन कम होता जायेगा।

बद से बदतर होती यूपी की कानून व्यवस्था

मुद्दा के दूसरे हिस्से में यूपी की कानून व्यवस्था पर चर्चा हुई। इस अहम मुद्दे पर चर्चा के लिए भी विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे। इन लोगों में गोविंद पंत राजू, बालेश्वर त्यागी, डॉ हिलाल नकवी, आनंद लाल बनर्जी (पूर्व डीजीपी), के एल गुप्ता (पूर्व डायरेक्टर जनरल आफ पुलिस), सुब्रत त्रिपाठी ( रिटायर्ड डीजीपी यूपी पुलिस) शामिल थे।

उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के दो महीने बाद भी अपराध पर लगाम नहीं लग पाया है। पूर्व सपा सरकार के कार्यकाल के दौरान हुई बुलंदशहर की घटना को अभी लोग भूल भी नहीं पाए थे कि दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर में इसी तरह की एक और घटना सामने आयी है। कल देर रात हाईवे पर गाड़ी रोक कर चार महिलाओं से गैंगरेप की घटना सामने आई है। लूट और गैंगरेप का विरोध करने पर परिवार के मुखिया को बदमाशों ने गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। जान गंवाने वाले शख्स की मां, बहन, पत्नी और भाभी के साथ गैंगरेप हुआ है। योगी सरकार लगातार कानून व्यवस्था को लेकर लगातार विपक्ष के निशाने पर है। सरकार के तमाम कवायदों के बाद भी आखिर अपराध पर लगाम क्यों नही लग पा रहा है।

सुब्रत त्रिपाठी ने कहा कि जो लोग मायावती को 5 साल प्यारे लगे वही अखिलेश यादव को प्यारे लगे और आज वही बीजेपी सरकार को प्यारे लग रहे हैं। जिस आदमी के जमाने में मुजफ्फरनगर कांड हुआ उसी आदमी को सहारनपुर के सुलगते हुए दिनों में जिम्मेदारी सौंपी गई।

गोविंद पंत राजू ने कहा कि सरकार को कानून व्यवस्था को ठीक करने के लिए अभी किस प्रकार से काम करना चाहिए ये अभी अपना दृष्टिकोण तय नही कर पायी है। ठीक है विरासत में बहुत बदहाल कानून व्यवस्था मिली थी इसी मुद्दे पर बीजेपी चुनाव भी जीती थी। अगर सीएम ने जैसा संकल्प लिया पहले दिन से वैसा होता तो निश्चित रुप से कोई बात होती। जमीन पर जो चीजें हो रही है वो ये दिखा रही है कि कानून व्यवस्था का जो भय होना चाहिए था अपराधियों में कही नही है।

बालेश्वर त्यागी ने कहा कि जो घटना हुई है वो बहुत ही गम्भीर है सरकार को आगे बढ़कर इस चुनौती को स्वीकार करना पड़ेगा। सहारनपुर की घटना एक तरह से जातीय तनाव है ये एक दूसरे तरह का अपराध है।

हिलाल नकवी ने कहा कि कानून व्यवस्था चलती है इकबाल से। पुलिस के इकबाल से शासन व प्रशासन के इकबाल से। जहां पर सत्तादल के लोग पुलिस के बड़े-बड़े अधिकारियों की चमड़ी उधेड़ने की बात करते हो वहां की पुलिस का मनोबल क्या होगा। जो सत्तादल है उसके लोग पूरी तरह से बेलगाम हो चुके हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.