Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अपनी सरजमी से आतंक की फैक्ट्री चलाने वाला पाकिस्तान बुजदिल है। जी हां, जेहाद के नाम पर लोगों का खून बहाने वाले पाकिस्तान को अपनी सेना के हौंसलों पर भरोसा नहीं है। यही वजह है कि पाकिस्तान अपने पाले आतंकियों के बल पर पीठ पीछे से वार करना ज्यादा मुनासिब समझता है। कश्मीर पर दुनिया भर से दुत्कारे जाने के बाद पाकिस्तान अब भारत के जाबांज जवानों पर घात लगाकर हमले करने की फिराक में है। दरअसल, खूफिया विभाग की तरफ से जो इनपुट मिले हैं उसके मुताबिक, पाकिस्तान आतंकियों के जरिए,  पुलवामा जैसे हमले की साजिश रच रहा है, हालंकि भारतीय सेना, पाकिस्तान की किसी भी साजिश को नाकाम करने के लिए तैयार है।

जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे पर आतंकी हमले की योजना बना रहे हैं। खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा बलों के साथ स्थानीय पुलिस को आतंकियों की इस नई रणनीति के बारे में सूचना दी है। अलर्ट के बाद सुरक्षाबलों ने हाइवे पर सरकारी वाहनों की आवाजाही पर सघन निगरानी शुरु कर दी है। इंटेलीजेंस अलर्ट के मुताबिक, आतंकवादी सुरक्षाबलों पर हमला करने के लिए कार बम का इस्तेमाल कर सकते हैं। पुलवामा की तर्ज पर विस्फोटकों से लदी कार और आईईडी से सुरक्षा बलों पर हमला किया जा सकता है. रिपोर्ट में बताया गया है कि आतंकवादियों का स्थानीय नेटवर्क इस तरह के हमले की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में माहिर है।

आपको बता दें कि इससे पहले खुफिया विभाग की तरफ से ये इनपुट दिए जा चुके हैं कि पाकिस्तानी सेना और आईएसआई, तीन आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन और जैश-ए-मोहम्मद को जम्मू-कश्मीर समेत पूरे भारत में हमले करने के साथ-साथ, राजनेताओं और पुलिसकर्मियों की हत्या करने की जिम्मेदारी सौंप चुकी है। जिसके बाद सवाल इस बात को लेकर उठ रहे हैं कि कोई देश इस हद तक कैसे नीचे गिर सकता है, जिसे अपने देश की सेना के बजाए, अपने पाले आतंकियों पर भरोसा है। जो पाकिस्तान बार-बार, भारत को परमाणु हमले की धमकी देता है, उसकी सेना में क्या इतना दम नहीं,  कि वो भारतीय सेना के जांबाज जवानों का सामने से मुकाबला कर सके?

शायद! यही वजह है कि आज पाकिस्तान की पहचान पूरी दुनिया में एक ना’पाक’ देश के तौर पर की जाने लगी है। जो अपनी अवा्म की जिंदगी को बेहतर बनाने के बजाए, जेहाद के नाम पर उन्हें गर्त में ढकेलना चाहती है। पाकिस्तान को ये समझ लेना चाहिए कि ये हिंदुस्तान है…हिंदुस्तान…जो दोस्ती भी अच्छे से निभाना जानता है और दुश्मनों के दांत खट्टे करना भी।

-अक्षय सिंह गौर

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.