Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तराखंड में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहन देने के लिए हाल में ही सरकार ने फिल्म नीति को सामने रखा था। इसी कड़ी में फिल्मकारों को राज्य में शूटिंग के लिए आमंत्रित करने के लिए फिल्म कॉन्क्लेव 2019 का आयोजन मसूरी में किया गया। कॉन्क्लेव का उद्घाटन सूबे के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दीप प्रज्वलित करके की, इसी मौके पर फिल्म जगत की कई जानी-मानी हस्तियां मौजूद थीं।

कार्यक्रम में संबोधन करते हुए सीएम रावत ने कहा कि हमे अपनी संस्कृति और परंपरा को जिंदा रखना होगा और इसमें कलाकारों का बढ़ा योगदान है। मुख्यमंत्री रावत ने फिल्मकारों को उत्तराखंड में शूटिंग करने के लिए आमंत्रित किया और हर सुविधा देने का वादा किया।

कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी शिरकत की। उन्होंने अपने संबोधन में अच्छे और बहुभाषीय कंटेट की जरूरत पर जोर दिया। साथ ही कहा कि फिल्म निर्माण में उच्च तकनीक का इस्तेमाल हो, इरानी ने कहा कि उत्तराखंड की कला और संस्कृति को सहेजा जाए।

आयोजन में फिल्मकारों और कलाकारों के साथ फिल्म निर्माण पर चर्चा हुई। जिसमें उत्तराखंड में फिल्म निर्माण में आने वाली दिक्कतों पर चर्चा हुई। इस दौरान APN की एडिटर इन चीफ राजश्री राय ने चर्चा का संचालन किया। चर्चा में तिग्मांशु धुलिया, विशाल भारद्वाज, रेखा भारद्वाज, अभिषेक डोगरा, पूजा बलुटिया, पूजा विष्ट, धर्मेंद्र मेहरा, अजय अरोड़ा, संदीप सिंह जैसे नामी फिल्मी हस्तियों ने हिस्सा लिया। बातचीत के दौरान स्थानीय कलाकारों को प्रोत्साहन, सुविधाओं की मांग, फिल्म डायरेक्टरी बनाने के सुझाव दिए गए। फिल्म निर्माताओं को सब्सिडी देने का भी सुभाव दिया गया।

वहीं गुरुवार की शाम कार्यक्रम में शोमा घोष ने प्रस्तृति दी। दरअसल, उत्तराखंड की त्रिवेन्द्र रावत सरकार, देवभूमि उत्तराखंड को फिल्म निर्माण के महत्वपूर्ण केन्द्र के तौर पर स्थापित करना चाहती है। सरकार का इसके पीछे मकसद है कि उत्तराखंड ना सिर्फ पर्यटन के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करे, बल्कि फिल्म निर्माण के क्षेत्र में बेहतर माहौल बना सके। इस फिल्म कॉन्क्लेव का मकसद, राज्य में फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देना है। APN, फिल्म कॉन्क्लेव 2019 का मीडिया पार्टनर है।

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.