#Article370 के दो साल पूरे, कश्मीरियों ने कहा- धरती की जन्नत 5 अगस्त 2019 में हुई आजाद

0
159

भारत 15 अगस्त 1947 में आजाद हुआ था। लेकिन कश्मीर 5 अगस्त 2019 में आजाद हुआ। जन्नत के पैरों से जंजीर 5 अगस्त को टूटी थी। यह बोल कश्मीर में रहने वाली जनता का है। वहां के लोगों का कहना है कि धारा 370 और 35ए खत्म होने के बाद घाटी असल में आजाद हुई है।

बता दें कि धारा 370 को खत्म हुए दो साल होने वाले हैं। 5 अगस्त को दूसरी सालगिरह है। इस मौके पर जम्मू की जनता ने तिरंगा रैली निकाली थी। रैली में युवा से लेकर बुढ़े शामिल हुए। तिरंगा मैराथन में सभी का जोश हाई दिखा।

तिरंगा रैली में शामिल हुए एक व्यक्ति का कहना है कि, आज का दिन ऐतिहासिक दिन है। जम्मू कश्मीर 5 अगस्त 2019 में आजाद हुआ था। जम्मू कश्मीर के पैरों से गुलामी की जंजीर 5 अगस्त को टूटी थी।

वहीं एक यंग महिला का कहना है कि, धारा 370 हटने के बाद देश में जो बदलाव आया है यह उसी की खुशी है कि हम पूरे 2 साल बाद इसे सेलिब्रेट कर रहे हैं। धारा 370 हटने के बाद युवाओं को इसका काफी फायदा हुआ है। नारी शक्ति को बल मिला है।

खुशी के इस मौके पर एक और सज्जन कहते हैं, धारा 370 हटने के बाद यहां पर 108 से अधिक कानून लागू हुए हैं। सभी को समान अधिकार मिला है। सभी के न्याय का ख्याल रखा जा रहा है। विकास हो रहा है। इस खुशी के मौके पर तिरंगा झंड़ा लगाकर हम अपने बलिदानियों को याद कर रहे हैं।

भारतीय संविधान का धारा 370 एक ऐसा अनुच्छेद था जो जम्मू और कश्मीर को स्वायत्ता मुहैया करता था। संविधान के 21वें हिस्से में धारा के बारे में परिचयात्मक बात कही गयी थी।

अस्थायी, संक्रमणकालीन और विशेष प्रावधान जम्मू और कश्मीर की संविधान सभा को, इसकी स्थापना के बाद, भारतीय संविधान के उन लेखों की सिफारिश करने का अधिकार दिया गया था जिन्हें राज्य में लागू किया जाना चाहिए या अनुच्छेद 370 को पूरी तरह से निरस्त करना चाहिए।

बाद में जम्मू-कश्मीर संविधान सभा ने राज्य के संविधान को बनाया और धारा 370 को खत्म करने की सिफारिश किए बिना खुद को भंग कर दिया, इस लेख को भारतीय संविधान की एक स्थायी विशेषता माना गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here