Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सोशल मीडिया पर मुसलमानों के पैगंबर को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में साजिश के तहत आग भड़कायी गई है। इसकी परतें धीरे धीरे साफ होने लगी हैं। इस मामले में बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने कहा, शहर में हिंसा से जुड़े मामलों में अब तक 110 लोगों को गिरप्तार किया गया है। पुलिस ने सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के एक नेता को भी गिरफ्तार किया है। SDPI की ओर से भी इस बात की पुष्टि की गई है. गिरफ्तार किए गए नेता का नाम मुजम्मिल पाशा है. बता दें कि इसी संगठन का नाम हिंसा को भड़काने में आ रहा था।

पुलिस ने कहा कि इस हिंसा में तीन लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 60 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। पुलिस आयुक्त कमल पंत ने बताया कि कथित सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भड़की हिंसा के बाद बेंगलुरु के डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन इलाके में उग्र भीड़ से झड़प के दौरान अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सहित करीब 60 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। उन्होंने कहा, ‘उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए की गई फायरिंग में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि एक घायल व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बेंगलुरु में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है और डीजे हल्ली व केजी हल्ली पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।’

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस विधायक मूर्ति के भतीजे ने पैगंबर को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था, जिसके बाद अल्पसंख्यक समुदाय का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने विधायक के घर तोड़फोड़ की। इस मामले पर कर्नाटक के गृहमंत्री ने कहा, “मामले की जांच हो रही है, लेकिन तोड़फोड़ से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। सुरक्षा के मद्देनजर इलाके में अतिरिक्त बलों को तैनात कर दिया गया है और उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

इस बीच सांसद तेजस्वी सूर्या ने ट्वीट कर कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री से मेरा निवेदन है कि वो संपत्तियों के नुकसान की भरपाई के लिए दंगाइयों की संपत्ति को वैसे ही जब्त करें जैसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में किया था।

उन्होंने चिट्ठी में कहा कि यूपी में सीएम योगी ने दंगाइयों के साथ जैसा सलूक किया ठीक उसी तरह कर्नाटक सरकार भी करे. उन्होंने कहा कि दंगाइयों से ही नुकसान की वसूली की जाए।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.