Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राजनेताओं की राजनीति मंदिरों पर रुक गई है। राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है और चिराग पासवान सीता मंदिर की खोज में सीतामढ़ी निकल गए हैं। बिहार विधानसभा चुनाव का पहला चरण 28 अक्टूबर को होने वाला है। ऐसे में चिराग पासवान एलजेपी की बागडोर अकेले ही संभाल रहे हैं। इस दौरान वे चुनाव प्रचार करने के लिए सीतामढ़ी पहुंचे हैं। वहां पर उन्होंने बड़ा बयान दिया है।

चिराग पासवान ने अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर की तर्ज पर सीतामढ़ी में भव्य सीता मंदिर बनाने की बात कही है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा है कि राम मंदिर को सीता मंदिर से जोड़ने के लिए एक कॉरिडोर भी बनाया जाना चाहिए। पुनौरा धाम मंदिर में पूजा- अर्चना करने के बाद ये बयान दिया है।

चिराग पासवान तेजस्वी और तेजप्रताप यादव के बाद बिहार के युवा नेता हैं। बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट का नारा लेकर चुनावी मैदान में कुदे हैं। युवा नेता हैं इनकी भी राजनीति मंदिर के इर्ध-गिर्ध ही घूम रही है।

चिराग पासवान ने कहा कि मैं यहां पर एक भव्य सीता मंदिर बनवाऊंगा। जो अयोध्या के राम मंदिर से भी बड़ा होगा। सीता के बिना भगवान राम अधूरे हैं और राम के बिना सीता। इसलिए एक कॉरिडोर बनवाया जाएगा जो सीतामढ़ी को अयोध्या से जोड़ेगा।  
 
चिराग पासवान का यह भी कहना है कि बिहार में जो भी दिव्य शक्तियां रही हैं उन सबको धार्मिक पर्यटन से जोड़ा जाना चाहिए। 

धार्मिक स्थलों को ध्यान में रखते हुए चिरगा पासवान ने ट्वीट भी किया है इन्होंने ट्वीट कर के लिखा, “धार्मिक पर्यटन से लोगों की आस्था भी जुड़ी हुई है और इससे बिहार का राजस्व भी बढ़ेगा।”

बता दें कि चिराग पासवान नया बिहार, युवा बिहार नारे के साथ चुनावी दंगल में हैं। इस बार एलजेपी अकेली ही चुनाव लड़ने वाली है। एलजेपी 143 सीटों पर एकेली ही चुनाव लड़ने वाली है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.