अपनी आवाज से जादू बिखेरने वाले गायक उदित नारायण का आज जन्मदिन है। उदित नारायण दशकों से अपनी मधुर आवाज से लोगों को कायल कर रहे हैं। सभी उम्र के लोग उनकी आवाज के दीवाने हैं। उदित नाराय को लोग उनके रोमांटिक गानों के लिए जानते हैं।

उदित आज अपने फैमिली और फैंस के साथ 64वां जन्मदिवस मना रहे हैं। उदित का जन्मदिन इस बार बेहद खास होने वाला है। क्योंकि उनके इकलौते वारिस आदित्य नारायण शादी करने जा रहे हैं।  इस मौके पर हम आप को आज उदित नारायण के कुछ बेहतरीन गानों के बारे में बताएंगे। जिससे उदित नारयण , उदित नारायण बने। उन्हें पहचान मिली।

उदित नारायण ने बॉलीवुड में उन्नीस-बीस की दशक में डेब्यू किया था। पर पहचान नहीं मिली थी। पर वो दिन आया जब उदित रातों-रात स्टार बन गए। वो गाना था ‘पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा…. इस गाने से उदित को पहली बार सर्वश्रेष्ठ पार्श्वगायक का फिल्मफेयर अवार्ड मिला था। इसके बाद वह एक के बाद एक सुपरहिट गानें देते चले गए। ये गाना कयामत से कयामत तक फिल्म का है। ये आमिर खान की डेब्यू फिल्म थी।

अमिशा पटेल और रीतिक रौशन की फिल्म 2000 में आई थी कहो ना प्यार है, यही गाना भी है। इस गाने ने लोगों के दिलों में खास जगह बना ली है। आज उदित नारायण के जन्मदिन के मौके पर इस गाने को एक बार फिर याद किया जा रहा है।

इस गाने को कौन नहीं जानता है। सभी के लबों पर “आए हो मेरी जिंदगी में तुम बहार बनकर ..” रहता है। फिल्म भी काफी हिट रही। फिल्म का नाम राजा हिंदुस्तानी है। जो कि 1996 में आई थी। इस में आमिर खान और करिश्मा कपूर ने अहम रोल अदा किया था।

इस फिल्म का नाम है वीर जारा, फिल्म के साथ इसका गाना भी काफी हिट रहा। गाने का नाम है ‘मैं यहां हूं’

सन 1996 में एक फिल्म आई थी “पापा कहते हैं” इसका गाना बड़ा मशहूर है। “घर से निकलते ही..” इस गाने को उदित नारायण ने अपनी आवाज दी है।

बता दें कि, गायक उदित नारायण का जन्म 1955 में एक ऐसे परिवार में हुआ था, जिसका नाता भारत और नेपाल दोनों से ही था। ये बात आज युवा शायद ही जानते होंगे कि उन्होंने अपने सिंगिंग करियर की शुरुआत हिंदी गानों से नहीं बल्कि एक नेपाली फिल्म से की थी। वहीं जब वहां कुछ बात नहीं बनी तो उदित नारायण 1978 में मुंबई आ गए थे।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here