Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भले ही गुजरात और हिमाचल चुनावों में बीजेपी जीत का पताका लहरा चुकी है। लेकिन उपचुनावों में उसे करारा झटका लगा है। राजस्थान और पश्चिम बंगाल की कुल 3 लोकसभा सीटों तथा 2 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों के नतीजे गुरुवार को आ गए। इन उपचुनावों में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ही छाई रहीं। राजस्थान में जहां  कांग्रेस ने लोकसभा की दोनों सीटों पर अजेय बढ़त बना ली है तो वहीं पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस  ने जीत दर्ज की। बता दें कि गुरूवार को एक तरफ जहां लोगों की निगाहें बजट पर थी तो वहीं पार्टियों की निगाहें उपचुनावों पर थी।

राजस्थान में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुई मतगणना में कांग्रेस ने बीजेपी को बड़े अंतर से मात दी है। अलवर में कांग्रेस के करण सिंह यादव ने भाजपा प्रत्य़ाशी जसवंत सिंह यादव से लगभग 40,000 मतों से जीत हासिल की। वहीं अजमेर में कांग्रेस के रघु शर्मा ने भाजपा के अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राम स्वरूप लांबा को लगभग 20,648 वोटों से मात दी।  इन चुनावों को बीजेपी की बड़ी हार के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि इसी साल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले हुए इन उपचुनावों को सेमीफाइनल कहा जा रहा था।

वहीं अगर पश्चिम बंगाल की बात करें तो  नुआपाड़ा विधानसभा सीट तृणमूल की झोली में गई और उलुबेरिया लोकसभा पर भी बड़े अंतर से आगे चल रही है।  बताया जा रहा है कि राजस्थान में सचिन पायलट ने अहम् भूमिका निभाई और कांग्रेस को जीत दिलाई। वहीं राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दावा किया है कि अजमेर और अलवर लोकसभा सीटें तथा मांडलगढ़ विधानसभा सीट कांग्रेस के खाते में ही आएंगी। कांग्रेस को मिली सफलता पर राहुल गांधी ने भी राजस्थान के कांग्रेस विंग को बधाई दी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.