Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारी हंगामे के बीच, ये हैं बीजेपी के विधायक राजकुमार ठुकराल…इनके लिए विवादों में रहना आम बात है…कहते हैं कि, विधायक जी द्वारा हंगामा करना, गाली गलौच करना और मारपीट करना भी आम बात ही है…शुरू से ही विवादों में रहने वाले विधायक राजकुमार ठुकराल के सिर पर सत्ता का नशा इस कदर चढ़ा कि, विधायक साहब अपनी सारी मर्यादायों को भूलकर यह करते हमेशा नजर आ जाते हैं…बीजेपी विधायक ठुकराल को पूर्व में उनके खराब व्यवहार के लिए पार्टी नोटिस तक दे चुकी है लेकिन, बीजेपी के दबंग विधायक ठुकराल का अपने स्टाइल में झगड़ना जारी है…

अबकी बार मामला उत्तराखंड के उधमसिंह नगर का है…जहां नेशनल हाइवे 74 का काम पूरा ना होने से पहले टोल प्लाजा चलाए जाने का रुद्रपुर से बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल और उनके समर्थकों ने विरोध किया…जबरन टोल प्लाजा को बंद करने का प्रयास किया…लेकिन, वहां मौजूद पुलिस बल और प्रशासनिक अधिकारियों ने विधायक जी को यह समझाने की पूरी कोशिश की कि निर्माण में जुटी कंपनी जल्द ही सड़क निर्माण कार्य पूरा कर लेगी…लेकिन बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल का पारा सातवें आसमान से नीचे नहीं उतरा उतरा…

एक तरफ विधायक आपे से बाहर थे तो दूसरी तरफ उनकी शह पाकर उनके भाई और गुर्गे पुलिसकर्मियों से ही उलझ गए…किच्छा क्षेत्र के सीईओ हिमांशु शाह समेत अन्य पुलिसकर्मियों को विधायक और उनका भाई ने गालियां दीं और मौके पर जमकर हंगामा किया…जब इतनी गुंडागर्दी से भी मन नहीं भरा तो पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की…

वहीं APN न्यूज से बातचीत में  बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल ने खुद को निर्दोष करार दिया…कहा वो तो जनता के लिए वहां गए थे…लेकिन, ये तस्वीरें बताती हैं कि किस तरह से विधायक भी अपने समर्थकों और अपने भाई के साथ पूरी तरह से गुंडागर्दी करते दिखे…जबकि, केंद्र से लेकर सूबे में उनकी ही सरकार है…केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री, सूबे के सीएम और सभी मंत्री भी उऩके ही हैं…

ऐसे में नेशनल हाइवे 74 का काम पूरा ना होने से पहले टोल प्लाजा चलाए जाने का विरोध वह उचित मंच से करने में पूरी तरह सक्षम हैं….लेकिन, विवादों में रहने वाले रुद्रपुर से बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल को नियमों से चलना गंवारा नहीं लगता…तभी तो कानून को अपने हाथों में लेना वो अपनी शान समझते हैं…लेकिन, सच तो यही है कि, गाली देने से किसी भी इंसान की मानसिकता ही झलकती है…और इससे नेताओं की सियासी सेहत तो हरगिज नहीं सुधरती…

कुमार मयंक एपीएन

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.