Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

गोवा में सीएम मनोहर पर्रिकर की बीमारी के बाद वैकल्पिक इंतज़ामों पर चर्चा के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गोवा बीजेपी नेताओं की बैठक बुलाई। कांग्रेस द्वारा राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद अमित शाह खुद हरकत में आ गए हैं। इससे पहले एस धवलीकर को राज्य का डिप्टी सीएम बनाने की बीजेपी की योजना को सहयोगियों द्वारा नकारने के बाद शाह ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के प्रमुख विजय सरदेसाई को फोन किया था। सूत्रों की मानें तो सरदेसाई महाराष्ट्र गोमानतक पार्टी के धवलीकर को राज्य के डिप्टी सीएम बनाने की योजना से नाराज बताए जा रहे हैं।

उधर गोवा में कमजोर पड़ती बीजेपी पर विपक्षी कांग्रेस भी नजर बनाए हुए है। कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा पेश करते हुए कहा कि उसे 21 से ज्यादा विधायकों का समर्थन प्राप्त है और 40 सदस्यीय विधानसभा में सरकार बनाने के लिए वह मजबूत स्थिति में है। कांग्रेस का कहना है कि पार्टी 16 विधायकों के साथ तटवर्ती राज्य में सबसे बड़ी पार्टी है। विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस विधायकों ने मंगलवार को राज्यपाल मृदुला सिन्हा से भेंट कर बीजेपी सरकार का विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने और उन्हें बहुमत साबित करने के लिए कहने का अनुरोध किया। कावलेकर ने कहा कि पार्टी को राज्यपाल के जवाब का इंतजार है। उन्होंने तीन-चार दिन में जवाब देने की बात कही थी। कांग्रेस विधायकों ने राज्यपाल से यह भी अपील की कि विधानसभा भंग नहीं होने दें। राज्य में पिछले वर्ष फरवरी में विधानसभा चुनाव हुए थे।

आपको बता दें कि 40 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 14, कांग्रेस के 16, गोवा फारवर्ड पार्टी के 3, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के 3 और तीन निर्दीलय विधायक हैं जबकि एक सीट एनसीपी के पास है।

लंबे समय से बीमार चल रहे पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर अग्नाशय कैंसर से जूझ रहे हैं। पर्रिकर 6 सितंबर को अमेरिका से इलाज कराकर भारत लौटे हैं। वहां करीब एक हफ्ते तक उनका इलाज चला था। इससे पहले मुख्यमंत्री पर्रिकर ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से अनुरोध करते हुए कहा था कि राज्य के सीएम पद के लिए वैकल्पिक व्यवस्था कराई जाए।

एपीएन ब्यूरो

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.