Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज संसद में आम बजट पेश किया। इस बजट से किसानों और गरीबों को राहत मिली है।जहां एक तरफ बीजेपी के नेताओं ने इस बजट को सही बताया वहीं विपक्ष ने पेश किए आम बजट को लेकर केंद्र सरकार को घेरा। आइए जानते है कि इस बजट को लेकर लोगों ने क्या प्रतिक्रियाएं दी है। बजट पेश होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे आधुनिक भारत के सपने को साकार करने वाला बजट बताया। जिसमें गरीबों, महिलाओं, युवाओं, किसानों, व्‍यापारियों और मध्‍यमवर्ग को ध्‍यान में रखा गया है।

राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आम बजट को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि इस बजट में भी पिछले चार सालों की तरह ही झूठे वादे किए गए हैं। राहुल ने कहा कि मोदी सरकार पिछले 4 सालों से झूठे वादे कर रही है। किसानों से किए उचित मूल्य के वादें, युवाओं को कोई योजगार नही दिया है।

मल्लिकार्जुन खड़गे

वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- इस बजट में छोटे-मोटे लोगों का हक छीना गया है। छोटा इन्वेस्टर्स अब क्या करेगा? तीन साल से जो बोल रहे हैं, वही इस बार भी बोला है।

राजनाथ सिंह

ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस बजट को ग्रांड बजट बताया। गरीब, किसान और आदिवासियों के लिए इसमें बहुत कुछ है। इतना ही नहीं ये बजट भारत को ग्लोबल इकोनॉमिक पावर के तौर पर स्थापित करेगा।

पी. चिदंबरम
पूर्व वित्त मंत्री पी, चिंदबरम ने कहा कि सरकार के पास कोई आईडिया नहीं है। इसीलिए तो उसने एक्पपोर्ट बढ़ाने के लिए कुछ नहीं किया। इम्पोर्ट पर एडिश्नल कस्टम ड्यूटी लगाई गई है। इसका मतलब ये हुआ कि दावोस में पीएम के दिए गए भाषण को सरकार कुछ ही दिन में भूल गई। कृषि क्षेत्र में परेशानियां जारी हैं। मेडिकल हेल्थ केयर भी बड़ा जुमला ही है।

अमित शाह

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि  यह हमारा पांचवा बजट था। यह विकास की गाथा को आगे ले जाएगा। विकास किसान, गांव, आदिवासी और दलितों तक जाएगा। 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने पर नई घोषणा की गई है। अब समर्थन मूल्य डेढ़ गुना होगा। किसानों के लिए कर्ज की रकम 11 लाख करोड़ किया गया है। बांस मिशन के लिए 1300 करोड़ रखे गए हैं। ये बजट मेदी सरकार ही ‘सबका साथ सबका विकास’ की बात को समर्पित है। अमित शाह ने कहा है कि देश भर में छह करोड़ शौचालय और बनाने का फैसला भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया है।

योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदितयनाथ ने इस बजट को बेहतरीन बताया और कहा कि इस बजट में  देश के गरीबों, किसानों और बुजुर्गों को लेकर बेहतरीन योजनाएं हैं। प्रधानमंत्री का अभिनंदन और वित्त मंत्री को बधाई।

नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए का मेडिकल इंश्योरेंस बहुत बड़ी योजना है। यह ऐतिहासिक बजट है।

पीयूष गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह बहुत बैलेंस बजट है। इसमें समाज के हर तबके के लिए कुछ ना कुछ है। खासतौर पर किसानों और गरीबों की हेल्थ सर्विस का ध्यान रखा गया है। इकोनॉमी को भी इससे बूस्ट मिलेगा। कांग्रेस भूल रही है कि उसने 2009 के लोकसभा चुनाव के पहले फिस्कल डेफिसिट (वित्तीय घाटा) एक ही साल में 209 से 5% तक पहुंचा दिया था। अगर आप इसे वित्तीय अक्लमंदी है तो हमें इस पर फिर से विचार करने की जरूरत है।

स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि   दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम लाने के लिए मैं पीएम को बधाई देना चाहती हूं। यह गरीबों, किसानों के विकास और उनकी आय बढ़ाने वाला बजट है। सीनियर सिटीजंस और महिलाओं को भी बहुत फायदा होगा।

अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार के बजट को विनाशकारी बजट बताया। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जिस बजट को पेश किया है वह गरीब, किसान व मजदूर को निराशा करने वाला है। इसके साथ ही यह बजट नौकरी पेशा और आम लोगों के मुंह पर तमाचा है।

मायावती

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार का अंतिम केंद्रीय बजट भी पहले की ही तरह सिर्फ लच्छेदार बातों वाला छलावा के साथ गरीब-विरोधी एवं धन्नासेठ-समर्थक है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को जुमलेबाजी बन्द करके तथ्यों व तर्कों के आधार पर देश को यह बताना चाहिये कि वह अच्छे दिन कहां हैं जिसका वायदा उन्होंने देश की सवा सौ करोड़ जनता से सीना तानकर चुनाव के समय किया था।

तेजस्वी यादव

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा है कि बजट में बिहार के लिए कुछ भी नहीं है। बिहार को विशेष पैकेज और विशेष राज्य के दर्जे पर कुछ भी नहीं मिला। नीतीश जी की वजह से केंद्र सरकार बिहार के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। वैसे बजट आने पर नेताओं की क्रिया-प्रतिक्रिया तो होती रहती है लेकिन जनता क्या कहती है, ये भी देखना जरूरी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.