मध्य प्रदेश के सीधी में मंगलवार की सुबह एक बड़ा हादसा हो गया है। सीधी जिले से सतना जा रही यात्री बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी। इस बस में 54 लोग सवार थे। खबर है कि, घटना में 38 लोगों की मौत हो गई है। हादसा रामपुर नैकिन थाना इलाके की है यहां पर सतना जा रही बस 7.30 बजे गहरी नहर में जा गिरी। नहर इतनी गहरी थी कि, बस का कोई अता पता ही नहीं चल रहा था।

हादसे के समय 6 लोग तैरकर नहर से बाहर निकल गए लेकिन अब तक 38 लोगों की मौत हो चुकी है। खबरों के अनुसार नहर अधिक गहरी होने के कारण बस गुम सी हो गई थी। क्रेन की मदद से बस को खोजा गया। बाकी लोगों को बचाने की कोशिश जारी है।

हादसे के बाद बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को बंद करा दिया गया है जिससे बस को पानी के तेज बहाव में बहने से रोका जा सके। पानी कम होने के बाद बस को खोजने में आसानी हुई। गोताखोर घटना का शिकार हुए यात्रियों की तलाश कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, रास्ते पर जब सामने से बोलेरो गाड़ी आ रही थी तब ड्राइवर उसे साइड देने लगा और उसी दौरान ये भयावह हादसा हुआ। घटना के बाद एसडीआरएफ, डाइवर्स समेत अन्य लोगों को यहां पर बुलाया गया और नहर में डूबे लोगों को निकालने की कोशिश की गई।

हादसे की जानकारी होते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिला कलेक्टर से सीधी बात है। शिवराज सिंह चौहान ने हरसंभव मदद मुहैया कराने का भरोसा दिया है। वहीं इस घटना को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने भी शिवराज सिंह चौहान से बात की है।

गोताखोरों को नहर में यात्रियों की खोजबीन के लिए पहुंचाया गया और मौके पर एसडीआरएफ टीम रेस्क्यू के लिये पहुंच गई। बाणसागर नहर के जल स्तर को कम करने के लिए आगे की सिहावल नहर को चालू कर दिया गया। टीम ने बस को ढूंढ ल‍िया है और उसमें फंसे शवों को न‍िकाला जा रहा है।

नर्सिंग का एग्जाम देने बस में सवार होकर स्टूडेंट सीधी से सतना जा रहे थे जिस वक्त ये हादसा हुआ है। हादसे में मरने वाले भी अधिकतर नर्सिंग के छात्र-छात्राएं ही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here