Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: गुरुवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार, आठ प्रमुख उद्योगों ने सितंबर में 5.2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। जो अर्थव्यवस्था में मंदी को दर्शाती है।

सबसे ज्यादा गिरावट कोयला खनन में दर्ज की गई है। इस क्षेत्र में 20.5 प्रतिशत तक की गिरावट आई है। पिछले साल इसी महीने के आंकड़े 4.3 फीसदी थे। अप्रैल से सितंबर 2019-20 की अवधि के दौरान विकास 1.3 प्रतिशत था।

ये आठ मुख्य उद्योग औद्योगिक उत्पादन (IIP) के कुल सूचकांक के 40 प्रतिशत से अधिक का योगदान देते हैं।

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, “आठ प्रमुख उद्योगों का संयुक्त सूचकांक सितंबर 2019 में 2018 के सूचकांक की तुलना में 5.2 प्रतिशत घट गया। अप्रैल से सितंबर के दौरान इसकी संचयी वृद्धि 1.3% थी।”

सितंबर में कोयले के उत्पादन में 20.5 फीसदी की गिरावट आई है जबकि पिछले साल के इसी महीने में कच्चे तेल का उत्पादन 5.4 फीसदी घटा था।

प्राकृतिक गैस का उत्पादन 4.9 प्रतिशत गिर गया। पिछले वर्ष की इसी अवधि में अप्रैल से सितंबर के दौरान इसके सूचकांक में 2 प्रतिशत की गिरावट आई।

एक तरफ कोर सेक्टर घाटे में चल रहा है तो दूसरी तरफ मार्केट बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स गुरुवार को अपने रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया। सेंसेक्स ने 40,344.99 अंक के आकड़े पर पहुंचकर अपने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 4 जून 2019 को सेंसेक्‍स 40,312 पर पहुंच गया था, गुरूवार को यही रिकॉर्ड तोड़ते हुए नया रिकॉर्ड बना है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.