Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi:  गुरुवार को Moody’s इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की GDP विकास दर के अनुमान को चालू वर्ष के लिए 5.6 प्रतिशत अनुमानित किया है। इससे पहले 5.8 प्रतिशत का अनुमान लगाया गया था, परन्तु मंदी के चलते इसे घटाकर 5.6 प्रतिशत कर दिया गया है।

Moody’s ने गुरूवार को जारी किए बयान में कहा, “हमने भारत के लिए अपने विकास के पूर्वानुमान में बदलाव किया है। 2019 में जीडीपी विकास दर 5.6 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है।”

कुछ दिन पहले मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत के लिए 2019-20 के सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी के विकास के अनुमान को 6.2% से घटाकर 5.8% कर दिया था। इसका कारण अर्थव्यवस्था में मंदी बताया गया। आशा जताई जा रही है कि मंदी का असर अर्थव्यवस्था पर लम्बे समय तक रहेगा।मूडीज का ये जीडीपी का अनुमान पिछले सप्ताह भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा लगाए पूर्वानुमान से भी कम है। आरबीआई ने 2019-20 के लिए 6.1% जीडीपी का अनुमान लगाया था।

मूडीज ने निवेश-आधारित मंदी को जिम्मेदार ठहराया। जो ग्रामीण घरों में वित्तीय तनाव और कमजोर रोजगार सृजन से प्रेरित है। इसने 2020-21 में 6.6% वृद्धि की उम्मीद की जा रही है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.