तालिबान अपनी साम्राज्य को अफगानिस्तान में बढ़ाने की पूरी कोशिश में लगा हुआ है। लोगों के ऊपर दबाव डाल कर वसूली कर रहा है। अधिकारियों का कहना है कि बल्ख प्रांत में तालिबान बलपूर्वक फंड जुटा रहा है। यही नहीं अपनी ताकत बढ़ाने के लिए वहां के लोगों की भर्ती करने में भी लगा हुआ है। उत्तरी प्रांत में तैनात अफगान स्थानीय अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि तालिबान बल्ख प्रांत में अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों में रहने वाले यहां के लोगों को उनकी आय का हिस्सा देने के लिए मजबूर कर रहा है।

मीडिया को बताते हुए अधिकारियों ने कहा कि तालिबान भी स्थानीय लोगों में से भर्ती करने की कोशिश में लगा हुआ है। कलदार जिले के कार्यवाहक जिला गवर्नर मोहम्मद यूसुफ ने बताया कि जिला भवन परिसर और पुलिस मुख्यालय के अंदर केवल 20 तालिबान लड़ाके हैं, बाकी ने दान लेने के लिए गांवों के अंदर पोजिशन बना ली है।

अधिकारियों ने मीडिया को बताते हुए कहा कि जिले में तालिबान के लड़ाकों की यंख्या 200 है, मगर वो वहां के लोगों में से और लड़ाकों की भर्ती करना चाहते हैं। वहीं, बल्ख प्रांत में शॉर्टेपा जिले के लिए जिला राज्यपाल मोहम्मद हाशेम मंसूरी ने बताया कि तालिबान ने दुकानों, बाजारों और वहां के लोगों पर टैक्स लगा दिया है- जो कि भुगतान करने की उनकी क्षमता से ऊपर है, और बताया कि तालिबान उन लोगों को भी परेशान कर रहे हैं, जो बड़ी राशि का भुगतान करने की क्षमता नहीं है।

वहां हेरातन के रहने वाले फतुल्लाह ने बताया कि लोगों को गंभीर चिंता है और व्यापारी व्यवसायों के कारण बहुत भयभीत है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुरक्षा अधिकारियों ने हालांकि लोगों को आश्वासन दिया है कि अफगान सुरक्षा बल लोगों के जीवन और संपत्ति की रक्षा के लिए तैयार है।

अफगान सेना की 209 शाहीन आर्मी कोर के कमांडर खानुल्ला शुजा का कहना है कि हमारी सेना का मनोबल बहुत ऊंचा है। वे पूरी तरह से तैयार हैं और शहर की रक्षा करने की पूरी ताकत लगा देगे। जल्द ही हम अपने आक्रामक अभियान शुरू करेंगे। आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में तालिबान ने कालदार जिले के केंद्र पर कब्जा करने में कामयाबी हासिल कर रही है। बाद में अफगान सुरक्षा बलों को जिले से पांच किलोमीटर दूर तैनात किया गया था ताकि तालिबान द्वारा उत्तर में एक प्रमुख वित्तीय शुष्क बंदरगाह, हेरातन सीमा पार करने में संभावित कदम को रोक दिया जाए।

View Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here