Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की शुरुआत आज से हो गई है। छत्तीसगढ़ में आज पहले चरण के लिए मतदान हो रहा है, इसके तहत कुल 18 सीटों पर मतदान हो रहा है। सोमवार सुबह 7 बजे ही कुछ सीटों पर मतदान शुरू हो गया है। नक्सल प्रभावित इलाका होने के कारण सुरक्षा के इंतजाम काफी पुख्ता किए गए हैं।

सुबह 7 बजे 10 सीटों पर मतदान शुरू हुआ, जबकि बाकी 8 सीटों पर 8 बजे से ही मतदान हुआ। नक्सल प्रभावित आठो जिले के मतदाता मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत 190 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। राज्य में चुनाव कार्य के लिए केंद्र से लगभग 65 हजार जवानों को यहां भेजा गया है। जिनमें अर्धसैनिक बल और पुलिस बल के जवान शामिल हैं।

पहले चरण में विधानसभा क्षेत्र मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोण्टा में सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। वहीं विधानसभा क्षेत्र खैरागढ, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में सुबह आठ बजे शाम पांच बजे तक मतदान होगा।

प्रथम चरण में कुल मतदान केन्द्रों की संख्या 4336 है। जहां 31,80,014 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 15,57,435 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 16,22,492 है। वहीं 87 मतदाता तृतीय लिंग के हैं। प्रथम चरण में निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए कुल 19079 कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जो शांतिपूर्ण निष्पक्ष निर्वाचन कराने के लिए मतदान केन्द्रों के लिए रवाना हो चुके हैं।

तो वही पहले दौर के मतदान के ठीक पहले छत्तीसगढ़ मे कांग्रेस को एक और जोरदार झटका लगा है। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष घनाराम साहू ने इस्तीफा दे दिया, और अब वो बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं। सोमवार को अमित शाह की मौजूदगी में घनाराम साहू बीजेपी में शामिल होंगे। इसके पहले कांग्रेस के एक और कार्यकारी अध्यक्ष और तानाखार विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक रामदयाल उइके ने महीने भर पहले कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था।

घनाराम साहू ने कांग्रेस छोड़ने से पहले पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और सांसद ताम्रध्वज साहू पर संगीन आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि वे ना केवल उन्हें बल्कि साहू समाज को प्रताड़ित और उपेक्षित कर रहे है। उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा है कि वो पांच साल से पार्टी के उपाध्यक्ष हैं, लेकिन अब पार्टी में उनकी कोई पूछ नहीं होती और ना ही उन्हें कोई जिम्मेदारी दी गई है।

Also Read:

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं। राज्य में अभी कुल 11 लोकसभा और 5 राज्यसभा की सीटें हैं। छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.