Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

लोकसभा चुनाव से पहले जनता के बीच अपनी पैठ बढ़ाने और सरकार की उपलब्धियों को प्रसारित करने के लिये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के वरिष्ठ नेता प्रदेश के सभी 80 लोकसभा क्षेत्रों में शनिवार को “कमल संदेश बाइक रैली” निकालकर सड़को पर उतरे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में तो उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रयागराज तथा डॉ. दिनेश शर्मा ने लखनऊ में कमल संदेश बाइक रैली को रवाना किया। भाजपा ने उत्तर प्रदेश के सभी 80 लोकसभा क्षेत्र में इसका आयोजन किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर से जिला मुख्यालय तक आयोजित भाजपा की ‘कमल संदेश बाइक रैली’ को पार्टी का झंडा दिखाकर रवाना किया। इससे पहले मोटर साइकिल सवार हजारों कार्यकर्ताओं को संबोधित कर केंद्र एवं राज्य सरकार की उपलब्धियों की याद दिलाकर उनका उत्साह बढ़ाया। उन्होने कहा कि वर्ष 2019 पूरे देश और दुनिया के लिए महत्वपूर्ण है।

योगी ने कहा कि हमको जनता तक केंद्र सरकार की हर योजनाओं को ले जाना है। भाजपा के सत्ता में आने के बाद देश-प्रदेश में विश्वास, विकास और सुशासन का वातावरण बनने का दावा करते हुए उन्होने कार्यकर्ताओं से सरकारी विकास योजनाओं के बारे में जनता को जागरूक करने की अपनी नैतिक दायित्व निभाने की अपील की है।

उन्होंने मोदी के संसदीय क्षेत्र में विकास कार्यो की चर्चा करते हुए कहा प्रधानमंत्री के गत साढ़े चार वर्षों एवं उनके (योगी) के करीब डेढ़ वर्षोँ के कार्यकाल में सड़क एवं बिजली समेत तमाम बुनियादी व्यवस्था दुरुस्त हुई हैं, जिससे देश-विदेश में काशी (वाराणसी) की अलग पहचान बन गयी है। इसकी चर्चा चारों तरफ हो रही है। रैली लहुराबीर, मलदहिया, गुलाब बाग, सिगरा, भारत माता मंदिर और पुन: मलदहिया चौराहा होते हुए वे जिला मुख्यालय पहुंचीं। रैली में भाजपा विधायक, पार्षद एवं पदाधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के शामिल हुए। रैली में शामिल कार्यकर्ता बेहद उत्साहित नजर आये। बड़ी संख्या में महिला कार्यकर्ता भी शामिल हुईं।

भाजपा की रैली के कारण शहर के कई हिस्सों में घंटों यातायात व्यवस्था लगभग ठप रही, जिससे राहगीरों को काफ मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मुख्यमंत्री एवं आला अधिकारियों की मौजूदगी में ज्यादातर कार्यकर्ता बिना हेल्मेट लागाए रैली में शामिल हुए जिससे पुलिस पर आरोप लगे कि उसने राजनीतिक दवाब में यातायात कानून तोड़ने वालों के सामने असहाय दिखी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय ने अजगरा विधान सभा स्थित अमर शहीद जवान स्मारक से कमल संदेश बाइक रैली को झंडा दिखाकर रवाना किया। इसके बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय कमल संदेश बाइक रैली के साथ चोलापुर से चंदौली तक गए। भाजपा महासचिव (संगठन) सुनील बंसल ने समाजवादी पार्टी (सपा) गढ़ कन्नौज से कमल संदेश बाइक रैली को रवाना किया। प्रदेश भाजपा महासचिव एवं विधायक पंकज सिंह ने गोरखपुर में रैली को रवाना किया। केन्द्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने नोएडा में तथा भाजपा प्रदेश महासचिव विजय बहादुर पाठक ने मुरादाबाद में रैली को रवाना किया।

लखनऊ में झूलेलाल वाटिका से उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कमल संदेश बाइक रैली को रवाना किया। उन्होंने भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं से केंद्र सरकार की उपलब्धियां जनता तक ले जाने की अपील की। प्रयागराज में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कमल संदेश बाइक रैली को परेड मैदान से रवाना किया। परेड मैदान फूलपुर लोकसभा क्षेत्र में आता है। उन्होंने परेड के मैदान से फूलपुर लोकसभा कमल संदेश बाइक यात्रा को रवाना किया।

केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने गाजीपुर में बाइक रैली को रवाना किया। केंद्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने बाराबंकी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमापति राम त्रिपाठी ने सीतापुर, डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने गौतमबुद्धनगर, राज्यसभा सदस्य विजयपाल तोमर ने मेरठ, राज्यसभा सदस्य अनिल अग्रवाल ने फिरोजाबाद, राज्यसभा सदस्य अशोक बाजपेयी ने उन्नाव, प्रदेश सरकार में मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने झांसी, डॉ. महेंद्र सिंह ने आगरा तथा प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने हरदोई में बाइक रैली को रवाना किया।

कानपुर के चौबेपुर में भाजपा ने कमल संदेश बाइक रैली में कई युवा शामिल हुये। फर्रुखाबाद में गुरूगांव मंदिर से फतेहगढ के डी एन कॉलेज तक भाजपा कमल संदेश बाइक रैली निकाली गई। शामली में कैराना लोकसभा की कमल संदेश बाइक रैली के दौरान कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। संदेश यात्रा के फ्लेक्सी बोर्ड पर स्वर्गीय सांसद हुकुम सिंह का फोटो ना होने पर कार्यकर्ता नाराज थे। भाजपा कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर फ्लेक्सी बोर्ड को उतरवाया।

                                   -साभार, ईएनसी टाईम्स

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.