Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

ऐसा मासूम होता है कि कांग्रेस पार्टी की ग्रह दशा इन दिनों विपरीत चल रही है। राहुल और उनकी टीम दिन रात एक कर के पार्टी में नई जान फूंकने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन आए दिन कुछ ना कुछ ऐसा घट जा रहा है कि पार्टी नेतृत्व को जवाब देना भारी हो रहा है। महाभियोग पर झटका पाने के बाद पार्टी अभी उबरी भी ना थी कि पार्टी के ही वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद का अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वार्षिक समारोह में दिये गए बयान का वीडियो सामने आया है जिसमें उन्होने खुद की पार्टी कांग्रेस को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है। इस वीडियों में वो कहते नजर आए हैं कि पार्टी के दामन पर बेगुनाह मुस्लिमों के खून के छींटे हैं।

पूरा वाक्या दरअसल यूं है कि सलमान खुर्शीद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वार्षिक उत्सव में हिस्सा लेने पहुंचे थे। यहां एक छात्र ने उनसे दंगों और अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाने को लेकर सवाल पूछा। खुर्शीद से एएमयू के एक पूर्व छात्र ने पूछा, “1948 में एएमयू एक्ट में पहला संशोधन हुआ था, उसके बाद 1950 में राष्ट्रपति का आदेश, जिससे मुस्लिमों से आरक्षण का छीना गया और फिर हाशिमपुरा, मलियाना और मुज्जफरपुर जैसे दंगों की लिस्ट है। इसके अलावा बाबरी मस्जिद की शहादत ये सब कांग्रेस के राज में हुआ। ऐसा क्यों ?

इस पर खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस के दामन पर मुस्लिमों के खून के धब्बे हैं। खुर्शीद यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि चूंकि मैं कांग्रेस का नेता हूं इसलिए मुस्लिमों के खून के दाग मेरे दामन में भी हैं, लेकिन ये आप पर ना लगें इसलिए आप इन घटनाओं से सीखें।

हम आपको यहां दे कि चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग लाने के पार्टी के फैसले से सलमान खुर्शीद ने किनारा कर लिया था।  पिछले कुछ दिनों में खुर्शीद कांग्रेस से हटकर राय रख रहे हैं। बीते शुक्रवार जब पार्टी ने उपराष्ट्रपति को चीफ जस्टिस के महाभियोग का नोटिस दिया था तब खुर्शीद ने कहा था कि वे इस फैसले में शामिल नहीं हैं। उन्होंने कहा था कि सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के फैसले या नजरिए से असहमत होने की वजह से बिना सोचे-समझे महाभियोग नहीं लाया जा सकता है। महाभियोग को गंभीर मुद्दा बताते हुए खुर्शीद ने खुद को प्रस्ताव से अलग कर लिया था। उन्होंने दूसरी पार्टियों की कांग्रेस के साथ हुई चर्चा की जानकारी होने से भी इनकार किया था।

सलमान खुर्शीद की इस स्वाकारोक्ति से बीजेपी को मौका मिल गया है। उनके ऐसे बयान पर कई नेताओं की प्रतिक्रिया आई है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमन्यम स्वामी का कहना है कि कांग्रेस को अब जाके समझ आया है। यह अच्छी बात है। बीजेपी पहले से यह कहते आ रही है कि कांग्रेस का देश में सांप्रदायिकता बढ़ाने में बड़ा हाथ है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मोहन भागवत ने कहा है कि सलमान खुर्शीद ईमानदार हैं। महाभियोग से किनारा करने के बाद अब उनका ऐसा बयान, यह जाहिर करता है कि उनका कांग्रेस के नेतृत्व से मोहभंग हो गया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.