होम देश Covid19 : 18+ मरीजों के लिए DCGI ने Hetero की दवा को...

Covid19 : 18+ मरीजों के लिए DCGI ने Hetero की दवा को दी मंजूरी, 5 दिनों में Virus खत्‍म करने का दावा

Covid19 : Corona महामारी के बीच वयस्कों के इलाज के लिए DCGI ने Hetero Company की दवा को मंजूरी दे दी है। कंपनी का यह दावा है कि ये कोरोना (Corona) मरीज के शरीर से वायरस (Virus) को 5 दिन में खत्म कर सकता है। Hetero Company ने कोरोना (Corona) की दवा Molnupiravir के आपात इस्तेमाल के लिए DCGI से अनुमति मांगी थी जिसे अब मंजूरी मिल गई है। Molnupiravir टैबलेट है और ये माइल्ड लक्षणों वाले मरीजों को दी जा सकती है। Hetero Company का क्‍लीनिकल ट्रायल के आधार पर दावा था कि ये के शरीर से वायरस को 5 दिन में खत्म कर सकता है।

Phase-III Trials में मांगी गई थी मंजूरी

आपको बता दें कि फेज थ्री (Phase Three) के ट्रायल में 1218 मरीजों पर ट्रायल के बाद ये अनुमति मांगी गई थी। इस दवा को Merck और Ridgeback Biotherapeutics LP ने तैयार किया है। जो मरीज अस्पताल में एडमिट नही है और जिनका घर पर ही इलाज चल रहा है, उन मरीजों के लिए ये दवा कारगर साबित होगी। 

Zydus Cadila Vaccine

कोरोना महामारी के इस दौर के बीच देश में 12 से 18 साल के बच्चों को जाइडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन (Zydus Cadila Vaccine) सितंबर से लगना शुरू हो सकती है। वैक्सीन (Vaccine) मामलों पर बनी विशेषज्ञ समिति के प्रमुख ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर ज्यादा असर पड़ने की आशंकाओं के बीच ये राहत भरे संकेत मिले हैं।

Delta Variant के खतरे ने महामारी को दिया न्यौता

अमेरिका और यूरोप के देशों में जहां डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) के खतरे ने महामारी की वापसी करा दी है वहीं बाकी देशों में खासकर भारत समेत एशियाई देशों में तीसरी लहर का अंदेशा लोगों को डरा रहा है। इस बीच, वैक्सीन (Vaccine) असमानता पर हेल्थ एक्सपर्ट (Health Expert) चिंता जता रहे हैं। उनका कहना है कि ये स्थिति महामारी को लंबा खींचने का कारण बन सकती है। इससे खतरा केवल गरीब देशों में ही नहीं है बल्कि अमीर देशों में भी कोरोना (Corona) के खतरे की वापसी हो सकती है।

इस बीच आज देश में 43,903 कोरोना के मामले दर्ज किए गए।

उधर वैक्‍सीन लेने की आवश्‍यकता पर जोर देते हुए AIIMS के रिह्यूमेटोलॉजी विभाग के अध्यक्ष एवं प्रो. डॉ. उमा कुमार ने कहा है, ”…ये न सोचें कि कोरोना संक्रमण होने के बाद टीकाकरण की आवश्यकता नहीं है। टीका लंबे समय तक शरीर में एंटीबॉडीज़ को बनाए रखता है और भविष्य में होने वाले संक्रमण को भी रोकता है।”

नीति आयोग प्रमुख डॉ. एन के अरोड़ा ने भी वैक्‍सीनेशन पर जोर देते हुए कहा, ”त्यौहार का मौसम शुरु हो गया है इस स्थिति में कोरोना वायरस का म्यूटेशन न हो इसके लिए सबको टीकाकरण करवाना आवश्यक है और COVID अनुरूप व्यवहार का भी सख़्ती से पालन करना होगा।”

ये भी पढ़ें :

Corona के बीच अब Nipah Virus की एंट्री, केरल में 12 साल के बच्चे की हुई मौतCoronavirus: केंद्र की उद्धव सरकार को सलाह, गणपती और दही हांडी पर भीड़ न इकट्ठा होने दें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

APN News Live Updates: पीएम मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का किया अनावरण

APN News Live Updates: New Zealand की प्रधानमंत्री Jacinda Ardern ने कोरोना नियमों के तहत अपनी शादी को रद्द कर दिया है।

Bollywood News Updates: विक्की कौशल-सारा ने इंदौर में शूटिंग की पूरी, पढ़ें Entertainment से जुड़ी सभी खबरें

Bollywood News Updates: Vicky Kaushal ने शादी के बाद शूट पर वापसी कर ली है। हाल ही में विक्की को सारा अली खान (Sara Ali Khan) के साथ इंदौर में शूटिंग करने गए थे

Cricket News Updates: कोहली और धवन ने संभाली India की पारी, पढ़ें दिनभर की सभी बड़ी खबरें

Cricket News Updates: India और South Africa के बीच आज 23 जनवरी को वनडे सीरीज का अंतिम मुकाबला केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला जा रहा हैं। साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए क्विंटन डिकॉक के शतक से सभी विकेट खोकर 287 रन बनाए। भारत के तरफ से बुमराह ने 2, प्रसिद्ध कृष्णा ने 3, दीपक चाहर ने 2, और चहल ने 1 विकेट चटकाए। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को पहला झटका जल्दी ही लग गया। उसके बाद विराट कोहली और धवन ने पारी को संभाला। खबर अपडेट करने तक 18 ओवर में 1 विकेट खोकर 89 रन बनाए। धवन 50 और कोहली 27 रन बनाकर खेल रहे है।

IAS Cadre Rules को लेकर ममता बनर्जी के बाद MK Stalin और Pinarayi Vijayan ने भी जताया विरोध, लिखा पीएम को पत्र

IAS Cadre Rules को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। ममता बनर्जी के बाद MK Stalin और Pinarayi Vijayan ने भी इस मुद्दे पर विरोध जताया है।