भारत में कोरोना की दूसरी लहर अब खत्म हो रही है। देशभर में मामले कम रिकॉर्ड किए जा रहे हैं। इस बीच दक्षिणी राज्य केरल ने केंद्र सरकार की चिंता बढ़ा दी है। यहां पर एक दिन के भीतर 22 हजार से अधिक मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। पिछले 51 दिनों में यह सबसे अधिक केस है। राज्य में जांच संक्रमण दर (टीपीआर) फिर से 12 फीसदी के पार हो गई है। केरल राज्य में संक्रमण के नए मामलों के रिकॉर्ड ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है।  

बता दें कि पूरे भारत में 50 फीसदी केस केरल में हैं। यहां पर मामले बढ़ते जा रहे हैं। वहीं केंद्र सरकार ने पहले ही कहा था कि अगर इसी तरह केस बढ़ता रहा तो वहां पर स्वास्थ्य मंत्रालय एक टीम भेजकर मामले की जांच कराएगा।

ताजा आंकड़ों के अनुसार, राज्य में एक दिन के अंदर 156 लोगों की कोरोना से जान गई है। अब तक कोरोना ने केरल में 16 हजार 326 मरीजों की जान ली है। परेशानी की बात यह भी है कि नए मरीजों में 116 स्वास्थ्यकर्मी हैं।

यह भी पढ़ें:

राज्य में 13 हजार 145 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के बाद ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 31,43,043 हो गई। फिलहाल राज्य में 1 लाख 45 हजार 371 कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। 

राज्य के पांच जिलों में संक्रमण के 2,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा 4,037 मामले मलाप्पुरम से सामने आए हैं। इसके बाद त्रिशूर में 2,623, कोझिकोड से 2,397 और एर्नाकुलम से 2,352 और पलक्कड़ से 2,115, कोल्लम से 1,914 और कोट्टायम से 1,136, तिरुवनंतपुरम से 1,100, कन्नूर से 1,072 और अलप्पुझा से 1,064 मामले सामने आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here