होम देश Normal Mask से ज्यादा बेहतर होते हैं कॉटन के मास्क, Colorado University...

Normal Mask से ज्यादा बेहतर होते हैं कॉटन के मास्क, Colorado University का दावा

कोरोना महामारी (Corona) से बचने के लिए लोग कई तरह के मास्क लगाते है, क्या आपको पता है कि ऐसे मास्क (Mask) भी हैं, जिन्हें धुलकर पहना जा सकता हैं वो सालभर बाद भी कोरोना के कणों को इंसान तक पहुंचने से रोकते हैं। जी हां कॉटन (cotton) के बने मास्क को आप एक साल बाद भी उपयोग में ला सकते है। कोलोराडो यूनिवर्सिटी (Colorado University) के रिसर्च के मुताबिक, कॉटन का मास्क अगर चेहरे की नाक और मुंह को अच्छी तरह से कवर कर रहा है तो यह आम मास्क की अपेक्षा ज्यादा सुरक्षित रहता है ।

Colorado University में हुई रिसर्च

कोलोराडो यूनिवर्सिटी (Colorado University) की शोधकर्ता मेरिना वेंस ने कहा कि महामारी की शुरुआत से अब तक रोजाना करीब 7200 टन मेडिकल वेस्ट निकल रहा है। इसमें डिस्पोजेबल मास्क (Disposable mask) की संख्या ज्यादा है। यह पर्यावरण के लिए खतरा बन सकता है हैं। इस खतरे को कम करने के लिए यह रिसर्च की गई कि धोकर सुखाने के बाद मास्क कितनी सुरक्षा देते हैं।

रिसर्च (Research) के लिए मास्क को एक स्टील की नली पर लगाया गया। इसके बाद नली में एक तरफ से हवा और एयरबॉर्न पार्टिकल्स छोड़े गए। यह मास्क नमी वाले माहौल और तापमान घटने-बढ़ने पर कितने पार्टिकल्स को रोक पा रहा है या नहीं, इसे भी देखा गया। उसके बाद देखा गया कि कॉटन के मास्क आम मास्क से अधिक सुरक्षा देते है  

mask cotton

Mask पहनते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

रिसर्च में कहा गया है कि मास्क पहनते समय हमें ध्यान रखना चाहिए कि इसकी पर्त और इंसान के चेहरे के बीच गैप नहीं होना चाहिए। यह चेहरे पर अच्छी तरह फिट होना चाहिए। इसे अपने चेहरे पर फिट करते हुए पहनें। मास्क पर हुई पिछली एक रिसर्च में सामने आया था कि ढीला मास्क पहनने पर एयरबॉर्न पार्टिक्लस 50 फीसदी तक सांस लेने के दौरान शरीर में पहुंच जाते हैं।

ये भी पढ़ें:

India Covid-19 Update : देश में Corona Cases बढ़े, Mumbai में तीसरी लहर की चेतावनी

India Covid-19 Update : देश भर में Corona के मामले हुए कम, इन शहरों में राहत और इन शहरों में है ज्यादा खतरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Chhattisgarh News: भारत माला परियोजना को लेकर BJP के आरोपों को कांग्रेस ने बताया गलत, कहा- भू-अर्जन का काम रमन सरकार में हुआ था

Chhattisgarh News: भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू द्वारा राज्‍य सरकार पर लगाए गए मुआवजा घोटाले के आरोपों को प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता Sushil Anand Shukla ने मनगढ़ंत और झूठा बताया है। उन्‍होंने कहा कि इन दोनों सड़क परियोजनाओं की स्वीकृति तत्कालीन भाजपा की रमन सरकार के समय हुआ था। इसका प्रारंभिक प्रकाशन भी 2018 में हुआ था। उस समय भी भाजपा की रमन सरकार थी। प्रारंभिक प्रकाशन के पश्चात भूस्वामी के नाम तथा भूमि के स्टेटस में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया गया। किसी के पारिवारिक बंटवारे, फौती आदि की स्थिति को छोड़कर। शुक्ला ने कहा कि मुआवजा प्रकरण में भाजपा नेता जो आरोप लगा रहे हैं उसमें अगर तनिक भी सच्चाई है तो इस गड़बड़ी और घोटाले के लिये भाजपा की रमन सरकार जवाबदार है।

Team India के सलामी बल्लेबाज Mayank Agarwal ने किया कमाल, विराट और रोहित को भी इस मामले में छोड़ा पीछे

Team India के सलामी बल्लेबाज Mayank Agarwal ने New Zealand के खिलाफ खेलते हुए एक खास रिकॉर्ड अपने नाम किया। मंयक अग्रवाल ने मुंबई में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मुकाबले में मंयक ने पहली पारी ने 150 रन और दूसरी पारी में 62 रन बनाते ही विराट कोहली और रोहित शर्मा को एक खास मामले में पीछे छोड़ दिया। मयंक के नाम अब आईसीसी टेस्ट वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भारत की तरफ से एक टेस्ट में सबसे ज्यादा बार 200 रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है।

Bollywood News Updates: Katrina Kaif की शादी से पहले एक्ट्रेस का परिवार पहुंचा मुंबई, पढ़ें Entertainment से जुड़ी सभी खबरें

Bollywood News Updates: विक्की कौशल (Vicky Kaushal) के साथ शादी से पहले कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) का परिवार मुंबई पहुंच गया है। बीते रात कैटरीना के भाई सेबेस्टियन लॉरेंट मिशेल को एक्ट्रेस के घर के बाहर देखा गया। उसी कार में कटरीना कैफ की बहन और भी थीं। बता दें कि विक्की और कैटरीना 9 दिसंबर को राजस्थान में शादी के बंधन में बंधेंगे।

UP Election 2022: सांसद Varun Gandhi ने फिर साधा योगी आदित्यनाथ पर निशाना, ट्वीट करके बोले- मां भारती के लाल पर लाठीचार्ज

UP Election 2022 के पहले हो सकता है भारी लटफेर क्योंकि जिस तरह से भाजपा सांसद वरुण गांधी यूपी की योगी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। उससे आसार कुछ ठीक नहीं नजर आ रहे् हैं। बहुत हद तक मुमकिन है कि चुनाव से पहले वरुण गांधी कोई और रास्ता अख्तियार कर लें।