Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: दिल्ली पुलिस ने पूर्व रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड के प्रमोटर शिविंदर सिंह की गिरफ्तार करने के एक दिन बाद उनके भाई और कंपनी के पूर्व सीईओ मालविंदर मोहन सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया। उनपर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं।

दिल्ली पुलिस के आर्थिक अपराध शाखा द्वारा उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। अब इसी को रद्द करने की मांग करते हुए उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। उनका कहना है कि एफआईआर दर्ज करने का अधिकार दिल्ली पुलिस के आर्थिक अपराध शाखा के पास नहीं है

मालविन्दर का नाम Religare Finvest Ltd (RFL) द्वारा दर्ज की गई एक शिकायत में भी दिया गया है। उन्हें गुरूवार रात दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने हिरासत में लिया। उनके अलावा अन्य तीन को गिरफ्तार किया गया है। इनमें पूर्व आरईएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सुनील गोधवानी और कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना शामिल हैं।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (ईओडब्ल्यू) ओ पी मिश्रा ने कहा, “शिकायत में बताया गया है कि रेलीगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड के मनप्रीत सिंह सूरी ने मालविंदर मोहन सिंह, शिविंदर मोहन सिंह, सुनील गोधवानी और अन्य के खिलाफ आरोप लगाए हैं। रेलीगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड और उसकी सहायक कंपनियों पर पूर्ण नियंत्रण रखने वाले व्यक्तियों ने कथित तौर पर गलत तरीके से कुछ कंपनियों को ऋण दिलाया। इसके कारण आरएफएल को भारी नुकसान हुआ है। ”

मिश्रा ने कहा, “इन कंपनियों ने पैसे वापस नहीं किए और कंपनी को 2397 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। कथित व्यक्तियों ने व्यवस्थित रूप से अपने फायदे के लिए जनता के पैसे को गलत तरीके से डायवर्ट किया है।”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.