Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राजस्थान के अलवर जिले के बड़ौदा मेव थाना क्षेत्र के भयाडी गांव में भयंकर मामला सामने आया है, यहां पर दलित परिवार से धर्म परिवर्तन कराया गया है। पीड़ित परिवार को कुछ लोगों ने बहला फुसला कर धर्म परिवर्तित कर दिया है। परिवार के साथ ये घटना 2018 में हुई थी। धर्म परिवर्तन कराने वाले लोग परिवार को सताने लगे हैं। पीड़ित परिवार इंसाफ के लिए कोर्ट से गुहार लगा रहा है।

मेम चंद उर्फ मोहम्मद अन्नस

बड़ौदा मेव थाना क्षेत्र के भयाडी गांव निवासी मेम चंद उर्फ मोहम्मद अन्नस पुत्र काडु जाटव ने बताया कि, उनके गांव में हरियाणा के फिरोजपुर झिरका के इब्राहिम बास गांव में मेव समाज के लोगों की रिश्तेदारी थी। इस नाते पीड़ितों का वहां आना जाना लगा रहता था। इसी दौरान सत्तार , तैयब, शहजाद, महबूब खान, हसन , रसीद शहीद, वहीद और शब्बीर सहित 15 लोगों  ने मिलकर इनका धर्म परिवर्तन करा दिया। काटु जाटव ने बताया कि हरियाणा लेजाकर उनका खतना भी कराया गया साथ ही उन्हें जमीन भी दी गई थी जिस पर अब घर बना लिया गया है।

पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि उन्हे झांसे में फंसाकर पहले धर्म परिवर्तित कराया गया फिर जम्मू-कश्मीर जमात में ले जाकर बच्चों को जान से मारने की धमकी दी साथ ही उनका खतना भी कराया गया है। इस तरह लगातार परिवार पर अत्याचार बढ़ने लगा तो वो फिर से हिंदू धर्म में आना चाहते हैं।

आरोपी पत्नी पर रखते थे बुरी नजर

पीड़ित परिवार

परिवार ने बताया कि, धर्म परिवर्तन कराने के बाद आरोपी पीड़ित की पत्नी पर बुरी नजर रखने लगे थे। उससे जबरन संबंध बनाने की कोशिश करते थे। परिवार किसी तरह जम्मू से भाग निकला। पीड़ित ने बताया कि अब उसने मुस्लिम धर्म से कुछ छोड़कर वापिस हिंदू धर्म स्वीकार कर लिया है। साथ ही कोर्ट में अर्जी लगाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में एडवोकेट बनवारी लाल ने बताया कि इस संबंध में परिवाद आया था और अदालत ने कार्यवाही के आदेश दिए है। कोर्ट ने कहा है कि जिन लोगों ने उन पर अत्याचार किया है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

बता दें कि राजस्थान के कई जिलों में हिंदुओं पर इसी तरह अत्याचार हो रहा है धर्म परिवर्तन की लगातार खबरे सामने आती रहती हैं। कुछ इसी तरह का हाल हरियाणा के मेवात का भी है लोग कहते हैं कि यहां पर हिंदू होना ही गुनाह है।

विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता विनोद बंसल ने भी इस पर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, “मेवात के जिहादियों ने दलित समाज के मामचंद को जबरन मुहम्मद अनस बनाकर खतना किया,”

मेवात में हिंदू होना गुनाह है

इस संबंध में विश्व हिन्दू परिषद द्वारा मेवात में हिन्दू समाज की प्रताड़ना को लेकर तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय जांच समिति की घोषणा 14 मई को की गयी थी। इस समिति में मेजर जनरल (सेनि) जी. डी. बख्शी, महामण्डलेश्वर स्वामी धर्मदेव एवं एडवोकेट चन्दकान्त शर्मा शामिल थे। ये बैठक 2020 में ही हुई थी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.