होम राज्य Mainpuri में स्कूली छात्रा की मौत के मामले में DGP ने SIT...

Mainpuri में स्कूली छात्रा की मौत के मामले में DGP ने SIT की नई टीम गठित की, Court ने 6 सप्ताह में जांच पूरी करने का दिया आदेश

Mainpuri में 16 वर्षीय स्कूली छात्रा की कॉलेज परिसर में फांसी लगाने से मौत मामले में SIT की नई जाँच टीम गठित कर दी गई है। DGP ने Allahabad High Court में बताया कि जाँच टीम में अनुभवी अधिकारियों को शामिल किया गया है। DGP ने Court को बताया कि जाँच में लापरवाही बरतने पर एएसपी, डिप्टी एसपी और आईओ को सस्पेंड कर दिया गया है। High Court ने एसआईटी को 6 सप्ताह में जाँच पूरी करने का निर्देश दिया है।

High Court ने लड़की के माता-पिता को सुरक्षा मुहैया कराने का दिया निर्देश

हाईकोर्ट ने निर्देश दिया है कि इस मामले में जाँच से हाईकोर्ट बार एसोसिएशन व कोर्ट को भी अवगत कराया जाए। लड़की के माता-पिता को सुरक्षा मुहैया कराने का भी कोर्ट ने निर्देश दिया है। कोर्ट को सरकार की तरफ से बताया गया कि एडीजी कानून व्यवस्था की निगरानी में जाँच पूरी की जाएगी। कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश की प्रति जिला जज मैनपुरी को भी भेजी जाए, जिसे वहां के सभी न्यायिक अधिकारियों को सर्कुलेट किया जाए।

हाईकोर्ट ने डीजीपी को निर्देश दिया है कि बलात्कार के मामले में दो माह में जाँच पूरी करने को लेकर सर्कुलर जारी किया जाए और विवेचना पुलिस का प्रशिक्षण कराया जाय। डीजीपी ने कोर्ट को बताया कि मैनपुरी के  तत्कालीन रिटायर एसपी को सेवानिवृत्ति लाभ का भुगतान रोक दिया गया है। उन्हें केवल प्रॉविजनल पेंशन का भुगतान किया जा रहा है। 

हाईकोर्ट ने डीजीपी समेत सभी उपस्थित पुलिस अधिकारियों की हाजिरी माफ कर दी। कोर्ट ने अधिकारियों के कोर्ट रूम से बाहर निकलने से पूर्व मार्मिक टिप्पणी भी की और कहा कि स्वर्ग या नरक कहीं और नहीं है। सबको अपने कर्मों का फल यही भुगतान पड़ता है। कोर्ट ने डीजीपी से यह भी कहा कि पुलिस को जाँच के लिए ट्रेनिंग की जरूरत है। अधिकांश जाँच कॉन्सटेबल करता है। दरोगा कभी-कभी जाता है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मैनपुरी में दो साल पहले जवाहर नवोदय विद्यालय में एक नाबालिग छात्रा की फांसी लगाकर आत्महत्या के मामले में सवालों का जवाब न दे पाने पर नाराजगी जताते हुए डीजीपी मुकुल गोयल को रोक लिया था। कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति एमएन भंडारी एवं न्यायमूर्ति एके ओझा की खंडपीठ ने डीजीपी के अलावा आईजी मोहित अग्रवाल व इस मामले में गठित एसआईटी के सदस्य पुलिस अधिकारियों को भी गुरुवार को फिर हाजिर होने का निर्देश दिया था। 

कोर्ट ने कहा था कि मामले में न्यायालय द्वारा दिखाई गई गंभीरता और जांच के तरीके के साथ दोषी पुलिस अधिकारी के खिलाफ निर्देश के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है, बल्कि मामले की जानकारी डीजीपी को नहीं दी जा रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीजीपी और एसआईटी के सदस्य जांच करने में पुलिस अधिकारियों की कार्रवाई के बारे में स्पष्ट करने के लिए अदालत में उपस्थित रहेंगे। आगे यह भी बताएंगे कि तत्कालीन पुलिस अधीक्षक मैनपुरी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई लगभग छह महीने पहले उनकी सेवानिवृत्ति से पहले क्यों नहीं पूरी की जा सकी।

DGP मुकुल गोयल से Court ने किए कई सवाल

डीजीपी मुकुल गोयल से कोर्ट ने इस मामले से जुड़े कई सवाल किए थे। कोर्ट ने अभियुक्तों का बयान लेकर छोड़ देने औऱ उनकी गिरफ्तारी नहीं करने को कोर्ट ने गंभीरता से लिया था। सुनवाई की शुरुआत में छात्रा की फांसी के बाद हुए शव के पंचनामे की वीडियो रिकार्डिंग देखने के बाद कोर्ट ने डीजीपी से पूछा था कि किसी के भी खिलाफ गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज होने पर पहला काम क्या करते हैं? डीजीपी ने जवाब दिया कि गिरफ्तारी।

कोर्ट ने कहा था कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नाबालिग के कपड़ों पर सीमेन पाया गया है। उसके सिर पर चोट के निशान थे। इसके बाद भी तीन महीने बाद अभियुक्तों का केवल बयान ही लिया गया, ऐसा क्यों? इस पर डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा कि फिर से एसआईटी गठित कर देते हैं।

16 सितंबर 2019 को 16 वर्षीय एक छात्रा अपने जवाहर नवोदय स्कूल में फांसी पर लटकी मिली थी। पुलिस ने शुरू में दावा किया था कि आत्महत्या का मामला है। दूसरी ओर उसकी मां ने आरोप लगाया था कि उसे परेशान किया गया, पीटा गया और जब वह मर गई तो उसे फांसी के फंदे पर लटका दिया गया। घटना को लेकर छात्रों ने प्रोटेस्ट किया था। परिवार ने भी कई दिनों तक धरना दिया था। मृतका के पिता ने मुख्यमंत्री से जांच की गुहार लगाई तो एसआईटी ने जांच की। 24 अगस्त 2021 को एसआईटी ने केस डायरी हाईकोर्ट में पेश की थी।
कोर्ट ने कहा छात्रा के पिता का बयान दर्ज नहीं किया गया और 5.30 से 6 बजे सुबह हुई घटना की सूचना परिजनों को न देने से संदेह पैदा होता है।

यह भी पढ़ें:

Saki Naka रेप पीड़िता की Mumbai के अस्पताल में मौत, आरोपी को बांद्रा कोर्ट ने 21 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेजा

नारायण राणे और उद्धव ठाकरे के बीच जंग, बताया मुर्गी चोर, मारो तमाचा, गिरफ्तारी का आदेश जारी

Sakinaka Rape Case: विफलता का ठीकरा उत्तर भारतीयों पर फोड़ रहें हैं Uddhav Thackeray?, BJP ने कहा- “चुनाव में बाटी चोखा करते हैं याद”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

T20 World Cup : Scotland ने किया बड़ा उलटफेर, बांग्लादेश को 6 रनों से हराकर सबको चौंकाया

T20 World Cup के दूसरे मैच में ही बड़ा उलटफेर हो गया। इस मैच में Scotland ने Bangladesh को 6 रनों से हराकर मुकाबले को जीत लिया। स्कॉटलैंड की टीम ने बांग्लादेश को हराकर सभी टीमों को सतर्क कर दिया। स्कॉटलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 140 रन बनाए। जवाब में बांग्लादेश की टीम 7 विकेट खोकर 134 रन ही बना सकी। क्रिस ग्रीव्स को हरफनमौला खेल (45 एवं 2/19) के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

Priyanka Gandhi Vadra होंगी UP Congress चुनाव अभियान का चेहरा : P L Punia

प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) उत्तर प्रदेश (UP) में कांग्रेस के चुनाव अभियान का चेहरा होंगी, ये बात कांग्रेस नेता पीएल पुनिया (PL Punia) ने आज कहा। पुनिया को अगले साल यूपी चुनावों के लिए कांग्रेस की प्रमुख 20-सदस्यीय चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख के रूप में नामित किया गया है,

17 अक्टूबर: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश, पढ़ें दिन भर की तमाम बड़ी खबरें

Kerala में भारी बारिश से मची तबाही के कारण कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक भारी बारिश की वजह से इडुक्की और कोट्टायम जिलों में कई जगहों पर भूस्खलन हुआ, जिसके कारण यह हादसा हुए। एनडीआरएफ का राहत दल तुफान और बारिश में फंसे लोगों को बचाने में दिन-रात लगी हुई है।

सिंघु बॉर्डर में हुई दलित व्‍यक्ति की मौत पर बसपा प्रमुख Mayawati ने सीबीआई जांच की मांग की, कहा – मामला गंभीर है

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख Mayawati ने सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर कथित तौर पर निहंग सिख द्वारा की गई एक दलित व्यक्ति मौत की पर सीबीआई जांच की मांग की है।