ईवीएम पर उठे विवाद को बढ़ता देख अब चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस को पत्र लिख कर पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच करने की मांग की है। चुनाव आयोग ने कहा कि लंदन में हुए कार्यक्रम में सैयद शुजा द्वारा किए गए दावों की जांच की जाए। शुजा ने दावा किया था कि भारत में इस्तेमाल ईवीएम हैक किए जाए सकते हैं।

चुनाव आयोग ने अपने पत्र में कहा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के जरिए आयोग के संज्ञान में यह बात आई है कि सैयद शुजा ने दावा किया है कि वह ईवीएम डिजाइन टीम के सदस्य थे और वह भारत में इस्तेमाल हो रही ईवीएम को हैक कर सकते हैं। ईसीआई ने दिल्ली पुलिस से पूरे मामले की जांच करने को कहा है।

बता दें कि लंदन में हुई हैकथॉन में अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट ने दावा किया है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हैक किया जा सकता है, उन्होंने दावा किया कि बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे की 2014 में हत्या की गई थी। एक्सपर्ट सैयद शुजा का कहना है कि मुंडे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हैक करने के बारे में जानकारी रखते थे। शुजा का दावा है कि 2014 के आम चुनाव में भी ईवीएम में गड़बड़ी की गई थी।

वहीं इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने कहा कि भारत में इस्तेमाल की जाने वाली मशीन पूरी तरह सेफ हैं।

साइबर एक्सपर्ट की तरफ से किए गए दावों के बीजेपी और कांग्रेस में भी जुबानी जंग छिड़ गई है। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि राहुल चुनाव हारने के डर से यह खुराफात करवा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘ 2019 के चुनाव में कांग्रेस हारने का बहाना अभी से ढूंढ रही है। राहुल जी होमवर्क नहीं करते हैं और उनकी पूरी टीम भी होमवर्क नहीं करती है यह भी अब पता चल गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here