Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में एक बार फिर से शिवराज सिंह ने मध्य प्रदेश की कमान संभाल ली है. बहुमत साबित करने के लिए शिवराज सरकार को 104 के आंकड़े की जरूरत थी. लेकिन बीजेपी ने 112 विधायकों का समर्थन साबित किया.

शिवराज मंत्रिमंडल में शपथ लेने वाले 28 मंत्रियों में सिंधिया खेमे के 9 विधायक शामिल #MadhyaPradesh #ShivrajSinghChouhan @ChouhanShivraj @joytiradityaSi1 pic.twitter.com/5zPG3kSJrb

— APN न्यूज़ हिंदी (@apnlivehindi) July 2, 2020

इससे पहले 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद अल्पमत में आने के कारण कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सिंह चौहान सरकार का कैबिनेट विस्तार किया गया। राजभवन में करीब 28 लोगों को कैबिनेट और राज्य मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई। शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे।

1. गोपाल भार्गव (कैबिनेट)
2. विजय शाह (कैबिनेट)
3. जगदीश देवड़ा (कैबिनेट)
4. प्रेम सिंह पटेल (कैबिनेट)
5. यशोधरा राजे (कैबिनेट)
6. भूपेन्द्र सिंह (कैबिनेट)
7. अरविंद सिंह भदोरिया (कैबिनेट)
8. एदल सिंह कंसाना (कैबिनेट)
9. ओपी सकलेचा (कैबिनेट मंत्री)
10. बृजेंद्र प्रताप सिंह (कैबिनेट मंत्री)
11. विश्वास सारंग (कैबिनेट मंत्री)
12. ऊषा ठाकुर (कैबिनेट मंत्री)
13. मोहन यादव (कैबिनेट मंत्री)
14. भारतसिंह कुशवाहा (राज्य मंत्री)
15. इंदर सिंह परमार (राज्य मंत्री)
16. रामखिलावन पटेल (राज्य मंत्री)
17. हरदीप सिंह डांग (कैबिनेट मंत्री)
18. रामकिशोर कांवरे (राज्य मंत्री)
19. राज्यावर्धन दत्तीगांव(कैबिनेट मंत्री)
20. प्रभुराम चौधरी (कैबिनेट)
21. इमरती देवी (कैबिनेट)
22. प्रद्युम्न सिंह तोमर (कैबिनेट)
23. महेंद्र सिसोदिया (कैबिनेट)
24. बृजेन्द्र यादव (राज्य मंत्री)
25. सुरेश धाकड़ (राज्य मंत्री)
26. ओपी भदौरिया (राज्य मंत्री)
27. बिसाहू लाल सिंह (कैबिनेट)
28. गिर्राज दंडोतिया (राज्य मंत्री)

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को अकेले मुख्यमंत्री की शपथ ली थी, जिसके बाद शिवराज ने 21 अप्रैल को पांच सदस्यीय मंत्रिपरिषद का गठन किया, वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा था कि ‘स्वागत है महाराज, साथ है शिवराज.’

सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आए शिवराज ने कहा कि व्यक्तिगत रूप से और भाजपा के लिए आज खुशी का दिन है. बीजेपी परिवार में सिंधिया का स्वागत करते हुए कहा आज मुझे राजमाता सिंधिया की याद आई, अब पूरा परिवार बीजेपी के साथ है. उनकी एक परंपरा रही है कि राजनीति लोगों की सेवा करने का एक माध्यम है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ने कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि किसान, माताएं और बहने कमलनाथ सरकार के रवैये से परेशान हो चुके है और उन्हें कोस रहे हैं. इसलिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पीएम मोदी पर विश्वास जताते हुए राष्ट्र की सेवा के लिए बीजेपी को चुना है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.