वर्षों बाद अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए अमीर, गरीब,बच्चे और बूढ़े अपनी तरफ से सहयोग कर रहे हैं। अब 83 साल के फक्कड़ बाबा का नाम सामने आया है। खबर है कि, बाबा ने अपनी जीवन भर की कमाई यानी कि, 1 करोड़ रूपए को राम मंदिर निर्माण के लिए दान कर दिया है। फक्कड़ बाबा ऋषिकेश में स्वार्गाश्रम स्थित टाट वाले बाबा के शिष्य हैं।

इन्हें स्वामी शंकर दास भी कहा जाता है। बाबा ने बताया कि वह यह निधि  50 वर्षों से इसी पुण्य कार्य के लिए जमा कर रहे थे। 

शंकर दास महाराज का जीवन अत्यंत साधारण रहा है। उन्होंने अपने जीवन के 60 साल गुफा में रह कर बिताए हैं। उन्होंने अपने जीवन में अपने लिए कभी कोई सुख सुविधा नहीं जुटाई और सारा जीवन गुफा में ही बिताया। 

इसीलिए उन्हें लोग फक्कड़ बाबा के नाम से जानते हैं। मात्र दो जोड़ी कपड़ों में रहने वाले शंकर दास का कहना है कि उनके जीवन का जो लक्ष्य था या कहें कि एक सपना था कि मेरे जीते जी मैं राम मंदिर बनता हुआ देख पाऊं, अब पूरा होने जा रहा है

वहीं, गणतंत्र दिवस के अवसर पर सिंधी बिरादरी की ओर से 201 चांदी की ईंटें जिनका वजन 201 किलोग्राम है अयोध्या में श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट को भेंट की गईं।

ऋषिकेश से एक प्रतिनिधिमंडल में पंकज चंदानी, राजेश चिचड़ा, विजय छाबड़ा, अनिल अरोड़ा, नीरज कुकरेजा एवम गौरव कुकरानी आदि कार्यक्रम में शामिल हुए। जहां उन्होंने ऋषिकेश सिन्धी बिरादरी का योगदान एक चांदी की ईंट श्री राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट को भेंट की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here