Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

ये तो सभी जानते हैं कि आज हम जिस फ्री अनलिमिटेड कॉलिंग और डेटा का लाभ उठा रहे हैं वो सिर्फ मुकेश अंबानी की वजह से ही संभव हो पाया है। साल 2016 में आए जियो के अनलिमिटेड डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग पैक धमाके ने बाकी कंपनियों के पसीने छूटा दिए थे, जियो की बदौलत आज मुकेश अंबानी ने भारत की अन्य ब्रॉडबैंड कंपनियों को कमाई के मामलें में बहुत पीछे छोड़ दिया हैं। लेकिन अब ब्रॉडबैंड जगत से बेशुमार धन-दौलत कमाने वाले मुकेश अंबानी ‘रिलायंस इंडस्ट्रीज’ का नाम दुनिया की टॉप 20 कंपनियों में देखना चाहते हैं, यह इच्छा उन्होंने अपने पिता और रिलांयस के फाउंडर ‘धीरूभाई अंबानी’ के जन्म शताब्दी के मौके पर आयोजित कंपनी के गाला इवेंट में जताई। इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने बताया, कि आज वह जो कुछ भी हैं, उसका सारा श्रेय अपने पिता और रिलायंस को देना चाहते हैं।

रिलायंस ने पूरे किए 40 साल

कार्यक्रम की शुरुआत कोकिलाबेन अंबानी ने अपने पोती और पोतों के साथ दीप प्रज्ज्वलन से  की। अवसर खास इसलिए था क्योंकि एक तरफ तो रिलांयस के फाउंडर धीरूभाई अंबानी की जन्म शताब्दी थी, तो वही दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने सफलतापूर्वक 40 साल पूरे कर लिए थे। इस खास मौके पर मुंबई स्थित रिलायंस कॉर्पोरेट पार्क में फैमिली डे का आयोजन किया गया, जहां रिलायंस परिवार के 50 हजार कर्मचारी अपने परिवारों के साथ शामिल हुए।

टॉप 20 कंपनियों में हो रिलायंस का नाम: अंबानी

दीप प्रज्ज्वलन के बाद मुकेश अंबानी ने मीडिया से मुखातिब होते हुए खुद से ही एक सवाल पूछा, ‘कि क्या रिलायंस दुनिया की टॉप 20 कंपनियों में शामिल हो सकती है? जिसका जवाब भी उन्होंने खुद ही दिया, कि हां जरूर हो सकती है और हम ऐसा करके ही रहेंगे

अपनी सफलता की कहानी बताते हुए उन्होंने कहा, 1000 रुपए से शुरू होने वाली कंपनी ने 6 लाख करोड़ तक सफर तय किया है, जो काबिल-ए-तारीफ है। हमारा कारोबार आज 28 हजार शहरों और 4 लाख गांवों तक फैल चुका हैं।

रिलायंस 106 नंबर पर शुमार

इन्टरनेट उपभोक्ताओं के लिए वरदान साबित जियो की भी अंबानी ने तारीफ की, उन्होंने बताया, जियो ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से डिजिटल रीइन्वेंशन किया है, साथ ही जियो ने भारत की अर्थव्यवस्था के सभी सेक्टरों को सकारात्मक रूप से प्रभावित भी किया है। आने वाले समय में जियो इन सभी सेक्टरों में देश को ट्रांसफॉर्म करने वाली पहली कंपनी बन सकती है और बन कर ही रहेगी। बता दें फोर्ब्स की ताजा रैंकिंग के मुताबिक रिलायंस दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों की सूची में 106 नंबर पर हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.