Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मां आशीर्वाद की तरह होती है। वो सब कुछ बच्चों के लिेए सही खोजती हैं। इसी तरह हर मां अपने बच्चे को हेल्दी ड्रिंक देना चाहती है। पर कई बार वो सही जगह पहुंच नहीं पाती है। यहां पर हम आप के लिए पोषक तत्‍वों से युक्‍त होने के साथ बच्‍चे को एनर्जी भी दे, ड्रिंक के बारे में बताएंगे।

क्‍या है बनाने की विधि
एक टेबलस्‍पून खरबूजे के बीज, अखरोट के 16 पीस, 16 बादाम, तीन से चार दाने काली मिर्च, एक छोटी इलायची, एक टीस्‍पून सौंफ, एक टीस्‍पून खसखस के दाने और एक चौथाई कप दूध। ये सामग्री चार लोगों की ड्रिंक के हिसाब से है।

हेल्‍दी ड्रिंक कैसे बनाए

  • सबसे पहले एक बड़ा कटोरा लें और उसमें खरबूजे के बीज डालें।
  • इसके बाद इस कटोरे में अखरोट, बादाम, काली मिर्च और इलायची डाल दें।
  • इलायची डालने के बाद आपको इसमें सौंफ डालनी है।
  • अब एक छोटी कटोरी में खसखस के दाने डालें।
  • फिर इन दोनों बर्तनों में पानी डालकर सभी चीजों को ढककर रातभर भीगने के लिए रख दें।

हेल्‍दी ड्रिंक की रेसिपी

  • सुबह भीगे हुए सूखे मेवे में से बादाम को निकालकर उसके छिलके उतार लें।
  • बादाम समेत सभी सूखे मेवों को छानकर मिक्‍सर में डाल दें।
  • भीगे हुए खसखस के बीजों को भी छानकर मिक्‍सी में डाल लें।
  • ड्राई फ्रूट्स के इस मिश्रण में हल्‍का सा पानी डालकर मिक्‍सी में पीसकर पेस्‍ट तैयार कर लें।


दूध का शेक बनाने का तरीका

  • अब एक गिलास लें और उसमें एक चम्‍मच तैयार पेस्‍ट डालें।
  • इसके बाद गिलास में दूध डालना है।
  • आप ठंडा या गर्म कोई भी दूध ले सकते हैं।
  • अब अच्‍छी तरह से मिक्‍स कर लें।
  • चाहें तो इसमें चीनी डाल सकते हैं।

इस हेल्‍दी ड्रिंक के फायदे


इस मजेदार ड्रिंक में सूखे मेवों का इस्तेमाल किया गया है जो कि बच्चों के विकास के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। आप बच्‍चों को सुबह स्‍कूल जाते समय यह ड्रिंक पिला सकती हैं। इससे उनमें दिनभर एनर्जी रहती है और कमजोरी नहीं आती है।

बच्‍चों को ड्राई फ्रूट्स के फायदे
बच्‍चों के विकास लिए सूखे मेवों में मौजूद पोषक तत्‍व बहुत जरूरी होते हैं। बच्‍चों को ड्राई फ्रूट्स से निम्‍न लाभ मिल सकते हैं :

  • एनीमिया से बचाव : सूखे मेवों में आयरन प्रचुर मात्रा में होता है। इससे खून में हीमोग्‍लोबिन का लेवल बढ़ता है और हीमोग्‍लोबिन बढ़ने से बच्‍चों में एनीमिया का खतरा कम होता है।
  • एनर्जी मिलती है : ड्राई फ्रूटृस में फाइबर प्रोटीन, जिंक, आयरन और अन्‍य खनिज पदार्थ होते हैं जो बच्‍चे को एनर्जी देते हैं। डायट में ड्राई फ्रूट्स को शामिल कर बच्‍चों को हेल्‍दी और एनर्जेटिक रखा जा सकता है।
  • कब्‍ज से छुटकारा : चूंकि, सूखे मेवों में प्रचुर मात्रा में उच्‍च मात्रा में फाइबर होता है इसलिए इनकी मदद से बच्‍चों में कब्‍ज की समस्‍या को रोका जा सकता है।
  • पाचन में सुधार : सूखे मेंवों में खूब प्रोबायोटिक्‍स होते हैं जो बच्‍चे के पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखते हैं। प्रोबायोटिक्‍स बच्‍चे के पाचन तंत्र के विकास में मदद करते हैं और खाने को पचाने में भी मदद करते हैं।
  • आंखों और हड्डियों के लिए : इनमें विटामिन ए और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है। विटामिन ए बच्‍चे की आंखों की रोशनी को तेज करता है और कैल्शियम हड्डियों के विकास और उन्‍हें मजबूत बनाए रखने का काम करता है।
  • मस्तिष्‍क के विकास : ड्राई फ्रूट्स जैसे कि अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं जो कि बच्‍चे के मस्तिष्‍क के विकास में मदद कर सकते हैं।
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.