राशन की दुकान पर लंबी कतारे देखकर माथा घूम जाता था। उपर से वितरण कर्ता की चार बात सुनकर और परेशानी होती थी। इस चिक चिक से गुरुग्राम को मुक्ति मिल गई है। अब यहां पर राशन लेने के लिए चिक चिक नहीं करनी होगी बल्कि एटीएम से राशन मिल जाएगा। अनाज एटीएम की सुविधा शुरु करने वाला हरियाणा पहला राज्य बन गया है। राशन मशीन पायलट प्रोजेक्ट के तहत स्थापित की गई थी। 5 मिनट के भीतर 70 किलो तक अनाज निकाल सकती है।

हरियाणा में खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग की जिम्मेदारी संभालने वाले उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब उपभोक्ताओं को खाद्यान्न लेने के लिए सरकारी राशन डिपो के सामने लाइन में नहीं लगना होगा, क्योंकि हरियाणा सरकार उपभोक्ताओं को ‘अनाज एटीएम’ उपलब्ध कराएगी।

इस मुद्दे को लेकर चौटाला ने एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, बड़े गर्व के साथ साझा कर रहा हूं कि देश के पहले अनाज एटीएम ‘अन्नपूर्ती’ की शुरुआत हरियाणा के गुरुग्राम जिले से हुई है। इसका उद्देश्य विभिन्न सरकारी योजनाओं में मिलने वाले अनाज के वितरण को सुगम एवं पारदर्शी बनाना है।

बता दें कि राज्य सरकार ने पालट प्रोजेक्ट ते तहत पहला राशन एटीएम गुरुग्राम के फारूख नगर में स्थापित किया है। यह बैंक एटीएम की तर्ज पर काम करेगा। उपभोक्ता अपना अंगूठा (पंच कर) लगाकर यहां से अनाज प्राप्त कर सकेंगे।

मशीन को लेकर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि राशन एटीएम को लगाने मुख्य उद्देशय है लोगों को भीड़-भाड़ से मुक्त कराना है।  साथ सही लाभार्थी तक पहुंचे।’ उन्होंने कहा कि सार्वजनिक खाद्य वितरण प्रणाली में पहले की तुलना में अधिक पारदर्शिता आएगी। मशीनें न केवल सरकारी डिपो संचालकों को अनाज वितरण में सहायक साबित होंगी बल्कि इससे डिपो संचालकों का समय भी बचेगा।

गौरतलब है कि मशीन में लगी टच स्क्रीन के साथ एक बायोमेट्रिक मशीन लगी हुई है, जहां पर लाभार्थी को आधार या राशन कार्ड का नंबर डालना होगा। बायोमेट्रिक से सुनिश्चित करने पर लाभार्थियों को सरकार की ओर से निर्धारित अनाज खुद मशीन के नीचे लगाए गए बैग में भरा जाएगा। मशीन के से गेहूं चावल के साथ दाल भी निकाल सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here