होम ज़रा हटके संस्कृति Pitru Paksha 2021: पितृपक्ष में पितरों को अंगूठे से ही क्यों दिया...

Pitru Paksha 2021: पितृपक्ष में पितरों को अंगूठे से ही क्यों दिया जाता है पानी, अनामिका उंगली में क्यों पहनते हैं कुशा की अंगूठी, जानें यहां

Pitru Paksha 2021: पितृपक्ष (Pitru Paksha) चल रहा है इसमें कई लोग श्राद्ध करते हैं। पितृपक्ष के दौरान श्राद्ध (Shradh) में पिंडदान और तर्पण के साथ ब्राह्मण भोजन भी करवाया जाता है। ऐसा करने से पितर तृप्त होते हैं। पिंडदान और तर्पण में पितरों को संतुष्ट करने के लिए जो जल और दूध दिया जाता है उसे हथेली में रखकर अंगूठे के द्वारा दिया जाता है। जिससे पितृ प्रसन्न होते हैं। वहीं पितरों तक भोजन पहुंचाने के लिए कौओं, कुत्ते और गाय को भोजन करवाया जाता है। 

जानिए कुछ ऐसी ही परंपराओं और उनके कारणों के बारे में

1) ये हैं वो परंपराएं

    •   महाभारत और अग्निपुराण के अनुसार अंगूठे से पितरों को जल देने से उनकी आत्मा को शांति मिलती है। 

    •   ग्रंथों में बताई गई पूजा पद्धति के अनुसार हथेली के जिस हिस्से पर अंगूठा होता है, वह हिस्सा पितृ तीर्थ कहलाता है। 

    •   इस प्रकार अंगूठे से चढ़ाया गया जल पितृ तीर्थ से होता हुआ पिंडों तक जाता है। पितृ तीर्थ से होता हुआ जल जब अंगूठे के माध्यम से पिंडों तक पहुंचता है तो पितर पूर्ण रुप से तृप्त हो जाते हैं।

हिंदू धर्म में कुशा (एक विशेष प्रकार की घास) को बहुत पवित्र माना गया है। अनेक कामों में कुशा का उपयोग किया जाता है। 

    •   श्राद्ध करते समय कुशा से बनी अंगूठी (पवित्री) अनामिका उंगली में धारण करने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि कुशा के अग्रभाग में ब्रह्मा, मध्य में विष्णु और मूल भाग में भगवान शंकर निवास करते हैं।

    •   श्राद्ध कर्म में कुशा की अंगूठी धारण करने से अभिप्राय है कि हमने पवित्र होकर अपने पितरों की शांति के लिए श्राद्ध कर्म व पिंडदान किया है। 

    •   महाभारत के अन्य प्रसंग के अनुसार, जब गरुड़देव स्वर्ग से अमृत कलश लेकर आए तो उन्होंने वह कलश थोड़ी देर के लिए कुशा पर रख दिया। कुशा पर अमृत कलश रखे जाने से कुशा को पवित्र माना जाने लगा।

श्राद्ध में ब्राह्मणों को भोजन करवाना एक जरूरी परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि ब्राह्मणों को भोजन करवाए बिना श्राद्ध कर्म अधूरा माना जाता है। 

    •   धर्म ग्रंथों के अनुसार, ब्राह्मणों के साथ वायु रूप में पितृ भी भोजन करते हैं। ऐसी मान्यता है कि ब्राह्मणों द्वारा किया गया भोजन सीधे पितरों तक पहुंचता है।

    •   इसलिए विद्वान ब्राह्मणों को पूरे सम्मान और श्रद्धा के साथ भोजन कराने पर पितृ भी तृप्त होकर सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं। 

    •   भोजन करवाने के बाद ब्राह्मणों को घर के द्वार तक पूरे सम्मान के साथ विदा करना चाहिए क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ब्राह्मणों के साथ-साथ पितृ भी चलते हैं।

ग्रंथों के अनुसार, कौवा यम का प्रतीक है, जो दिशाओं का फलित (शुभ-अशुभ संकेत बताने वाला) बताता है। इसलिए श्राद्ध का एक अंश इसे भी दिया जाता है।

    •   कौओं को पितरों का स्वरूप भी माना जाता है। मान्यता है कि श्राद्ध का भोजन कौओं को खिलाने से पितृ देवता प्रसन्न होते हैं और श्राद्ध करने वाले को आशीर्वाद देते हैं।

    •   श्राद्ध के भोजन का एक अंश गाय को भी दिया जाता है क्योंकि धर्म ग्रंथों में गाय को वैतरणी से पार लगाने वाली कहा गया है। गाय में ही सभी देवता निवास करते हैं।

    •   गाय को भोजन देने से सभी देवता तृप्त होते हैं इसलिए श्राद्ध का भोजन गाय को भी देना चाहिए।

    •   कुत्ता यमराज का पशु माना गया है, श्राद्ध का एक अंश इसको देने से यमराज प्रसन्न होते हैं। शिवमहापुराण के अनुसार, कुत्ते को रोटी खिलाते समय बोलना चाहिए कि- यमराज के मार्ग का अनुसरण करने वाले जो श्याम और शबल नाम के दो कुत्ते हैं, मैं उनके लिए यह अन्न का भाग देता हूं। वे इस बलि (भोजन) को ग्रहण करें। इसे कुक्करबलि कहते हैं।

    •   उसके घर वाले जवानी में ही मर जाते हैं और श्राद्धकर्ता को भी शीघ्र ही लड़ाई में जाना पड़ता है। इस दिन केवल उन्हीं परिजनों का श्राद्ध करना चाहिए जिनकी अकाल मृत्यु हुई हो।

    •   अकाल मृत्यु से अर्थ है जिसकी मृत्यु हत्या, आत्महत्या, दुर्घटना आदि कारणों से हुई है। इसलिए इस श्राद्ध को शस्त्राघात मृतका श्राद्ध भी कहते हैं।

    •   इस तिथि के दिन जिन लोगों की सामान्य रूप से मृत्यु हुई हो, उनका श्राद्ध सर्वपितृमोक्ष अमावस्या के दिन करना उचित रहता है।

यह भी पढ़ें:

Pitru Paksha 2021: पितृपक्ष में न भूलें पंचबली भोग लगाना, नहीं तो भूखे ही लौट जाएंगे पितर

Pitru Paksha 2021: हिंदू धर्म में पितृपक्ष का है विशेष स्थान, इन चीजों से करें परहेज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

एनसीबी ने समीर वानखेड़े से की पूछताछ, कहा- ड्रग्स मामले की जांच करते रहेंगे, पढ़ें 27 अक्टूबर की सभी बड़ी खबरें…

APN Live Update: एनसीबी ने कहा कि आज एजेंसी ने करीब 4 घंटे तक समीर वानखेड़े का बयान दर्ज किया। उन्होंने टीम...

Bollywood News Updates: Katrina Kaif और Vicky Kaushal की गाड़ी की नंबर प्लेट ने लोगों का खींचा ध्यान, पढ़ें Entertainment से जुड़ी दिन भर...

Bollywood News Updates: विक्की कौशल (Vicky Kaushal) और कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) लगातार सुर्खियों में हैं। दोनों के रिश्ते को लेकर लगातार चर्चा हो रही है। वैसे इस रिश्ते पर दोनों तरफ से अभी कुछ नहीं कहा गया हैं। लेकिन दोनों को अक्सर साथ में स्पॉट किया जाता है। हाल ही में दोनों को रेशमा शेट्टी के बांद्रा ऑफिस के पास स्पॉट किया गया है।

Cricket News Updates: Shoaib Akhtar ने Live Show में दिया इस्तीफा, पढ़ें खेल से जुड़ी दिनभर की सभी बड़ी खबरें

Shoaib Akhtar को PTV एंकर ने Live Show के दौरान शो छोड़कर जाने को कह दिया। Shoaib Akhtar ने शो से इस्‍तीफा दिया, अपनी माइक टेबल पर रखी और शो से बाहर निकल गए। बता दें कि T20 World Cup 2021 में Pakistan की टीम अच्छा प्रर्दशन कर रही है और उधर कई पूर्व खिलाड़ी अपने बयान के चलते चर्चा में बने हुए है। वकार यूनिस की ‘नमाज’ वाले कमेंट के लिए काफी आलोचना हुई और उसके बाद उन्हें माफी मांगनी पड़ी। पूर्व तेज गेंदबाज Shoaib Akhtar को एक लाइव टीवी शो के दौरान एंकर ने उन्हें जाने के लिए कह दिया और इसके बाद लाइव शो के दौरान ही अख्तर ने अपने इस्तीफे का ऐलान कर दिया।

6 साल बाद जनता दरबार में पहुंचे Lalu Yadav, कहा- तेजस्वी ने उखाड़ दिया, अब हम विसर्जन करने आए हैं, देखें VIDEO

राजद नेता लालू प्रसाद यादव ने आज करीब 6 साल बाद चुनावी प्रचार में हिस्सा लिया। लालू यादव के भाषण को सुनने के लिए भारी संख्या में भीड़ उमड़ी।