Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले के आरोपियों पर नकेल में बिहार सरकार ने एक बड़ा फैसला किया था, लेकिन इस फैसले का असर मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर पर नहीं पड़ने जा रहा है । निबंधन विभाग ने बालिका गृह का संचालन करने वाली संस्था सेवा संकल्प एवं विकास समिति और इससे जुड़े सात लोगों की  संपत्ति  अपने कब्जे में लेने का फैसला किया है । लेकिन सरकार ने जब कार्यवाही शुरु की तो पता चला कि ब्रजेश ठाकुर वाकई बहुत शातिर है । बालिक गृह के संचालकों में ब्रजेश ठाकुर का नाम ही नहीं है । समिति में ब्रजेश ठाकुर की पत्नी प्रोफेसर आशा तो हैं लेकिन न तो ब्रजेश ठाकुर का नाम है और ना ही उसके बेटे  राहुल आनंद का है।  एसे  ब्रजेश ठाकुर और उसके  बालिग बेटे की संपत्ति पर निबंधन विभाग कब्जा नहीं कर सकता ।.

दरइसल, बिहार सरकार ने फैसला किया है कि बालिका गृह का संचालन करने वाली संस्था सेवा संकल्प एवं विकास समिति और इस एनजीओ के पदधारकों की संपत्ति सरकार अपने कब्जे में लेगी। इस संबंध में प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है । निबंधन विभाग के आदेश पर जिलाधिकारी मो सोहैल ने जिले के सभी 16 अंचलाधिकारियों को पत्र लिखकर संस्था के साथ इसके पदाधिकारियों व सदस्यों की चल-अचल संपत्ति का ब्योरा जुटाने और उसे अपने अधीन लेने को कहा है । संस्था के सात पदाधिकारियों व सदस्यों में ब्रजेश ठाकुर की पत्नी, साला, चचेरा भाई और कुछ दूर के रिश्तेदार हैं । निबंधन विभाग ने तीन अगस्त को (ज्ञापांक-1151) के जरिये जिलाधिकारी को पत्र लिखा था ।. इसके बाद  जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारियों को पत्र लिखकर कहा  है  – ‘तदनुसार सेवा संकल्प एवं विकास समिति, साहु रोड, मुजफ्फरपुर एवं उनके पदधारकों की चल एवं अचल संपत्ति के संबंध में जानकारी प्राप्त कर उसे अपने अधीन ले लिया जाये.’ डीएम ने अपने पत्र में साफ तौर पर हिदायत दी है कि  लापरवाही बरतने पर अधिकारी पर सख्त कार्रवाई होगी.

सेवा संकल्प एवं विकास समिति के सदस्यों में ब्रजेश ठाकुर की पत्नी प्रो डॉ आशा, रिश्तेदार संजय कुमार सिंह तथा चचेरे भाई रमेश कुमार भी हैं. इसके अलावा समेत चार अन्य रिश्तेदार व दोस्त हैं. ब्रजेश के साला रोहुआ मुशहरी निवासी संजय कुमार सिंह सेवा संकल्प एवं विकास समिति संस्था के अध्यक्ष हैं. चचेरे भाई सिलौत पचदही के रहने वाले रमेश कुमार को सचिव बना रखा था. पत्नी प्रो (डॉ) आशा बतौर सदस्य नामित हैं. कोषाध्यक्ष कांटी असनगर के रहनेवाले प्रयागनाथ तिवारी उर्फ मुन्ना, बतौर कार्यकारिणी के सदस्य रघुवंश रोड निवासी किरण पोद्दार, गन्नीपुर निवासी संगीता सुभाषिणी व साहू रोड निवासी संजीता कुमारी नामित थी.

इस बीच सीआईडी को निबंधन विभाग से मिली जानकारी में शहर से सटे अहियापुर ईलाके में 31 जुलाई को राहुल आनंद द्वारा 10 लोगों के नाम साढ़े 11 कठ्ठे की जमीन बेचे जाने की पुष्टि हुई है । इस भूखंड का बाजार मूल्य दो करोड़ से अधिक का है ।

ब्रजेश ठाकुर और उसके बेटे के नाम से करोड़ों की संपत्ति का पता चलने के बाद निबंधन विभाग ने यह कदम उठाया है, लेकिन लगता है कि सरकार के इस फैसले के बाद भी ब्रजेश ठाकुर और उसके बेटे का कुछ खास नहीं बिगड़ा है ।

—एपीएन ब्यूरो रिपोर्ट

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.