Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi:जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को 21 सदस्यीय संसदीय रक्षा पैनल में शामिल किया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाले पैनल के सदस्यों की सूची में साध्वी प्रज्ञा को भी शामिल किया गया है। 100 दिन से अधिक समय तक अपने श्रीनगर स्थित निवास पर नजरबंद रहने वाले 81 वर्षीय नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला का नाम इस पैनल में आने से सब हैरान हैं।

संसदीय कार्य मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार समिति के अन्य सदस्यों में पूर्व रक्षा मंत्री और राकांपा प्रमुख शरद पवार शामिल हैं।

अब्दुल्ला को 5 अगस्त को हिरासत में लिया गया था। जब केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द कर दिया और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया।

उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और एक अन्य पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को भी राज्य भर में 5,000 से अधिक लोगों के साथ हिरासत में लिया गया था।

नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख को PSA के सार्वजनिक आदेश प्रावधान के तहत बुक किया गया है, जिसके तहत एक व्यक्ति को तीन से छह महीने तक जेल में रखा जा सकता है।

PSA के आदेश में कहा गया कि अब्दुल्ला में श्रीनगर और घाटी के अन्य हिस्सों में सार्वजनिक अव्यवस्था का वातावरण बनाने की जबरदस्त क्षमता है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.