Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: गौतम गंभीर ने लोकसभा में मंगलवार को दिल्ली प्रदूषण पर बोलते हुए इस गंभीर समस्या को समाधान ढूंढने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि ऑड-ईवन और निर्माण स्थलों पर प्रतिबंध लगाने से इस समस्या का स्थाई समाधान नहीं ढूंढा जा सकता। उन्होंने आगे कहा कि दूसरो पर आरोप लगाने के बजाए समाधान ढूंढा जाए।

उन्होंने कहा, “देश में जलवायु आपातकाल की स्थिति बनी हुई है। दिल्ली सबसे अधिक प्रभावित है। राज्य को अब ऑड-ईवन और निर्माण स्थलों पर प्रतिबंध लगाने से नहीं बचाया जा सकता। हमें दीर्घकालिक समाधान की आवश्यकता है। एक दूसरे पर आरोप लगाने से परहेज करना होगा। यह जिम्मेदारी उठाने और कार्य करने का समय है।”

उन्होंने कहा, “यह एक ऐसा विषय है जो हमारी जाति, पंथ, उम्र और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करता और सभी को प्रभावित करता है। यह निर्णायक समय है जब हम इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना बंद कर दें।”

इससे पहले टीएमसी की लोकसभा सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने अनोखे तरीके से दिल्ली प्रदूषण का विरोध किया। काकोली मास्क पहनकर संसद पहुंची। उन्होंने प्रदूषण पर लोकसभा में बात भी की। उन्होंने कहा कि दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों में से 9 भारत में हैं। यह काफी अपमानजनक है कि एक विदेशी प्रीमियर जो भारत की यात्रा पर थे, उन्होंने एक भारत पर प्रदूषण को लेकर एक प्रतिकूल टिप्पणी की।

उन्होंने आगे कहा, “मैं सरकार का ध्यान प्रदूषण की ओर आकर्षित करना चाहूंगा। जब हमारे पास ‘स्वच्छ भारत मिशन’ है, तो क्या हमारे पास ‘स्वच्छ हवा मिशन’ नहीं हो सकता है? क्या हमारे द्वारा स्वच्छ हवा में सांस लेने का अधिकार सुनिश्चित नहीं किया जाना चाहिए? … दिल्ली में हम वायु प्रदूषण को लेकर एक बहुत खतरनाक स्थिति की तरफ बढ़ रहे हैं।”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.