Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: अभिजीत बनर्जी के नाम से आज हर कोई हर वाकिफ है। अभिजीत को हाल ही में अर्थशास्त्र में नोबेल मिला है। उन्होंने अपने साथ पूरे भारत का नाम रोशन किया है। परन्तु कुछ लोगों की बातें सुनकर लगता है कि वो इससे खुश नहीं हैं। भाजपा के विरष्ठ नेता पीयूष गोयल की तरफ से ऐसा ही एक बयान आया है।

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं अभिजीत बैनर्जी जी को नोबेल पुरस्कार के लिए बधाई देता हूं, पर उनकी समझ के बारे में तो पूरे देश को बता ही है, वो वामपंथी हैं और उनकी सोच को देश ने गलत साबित कर दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि आप सबको बता ही है कि कांग्रेस की NYAY योजना का उन्होंने कितना गुणगान किया था, परन्तु उनकी इस सोच को जनता ने गलत साबित कर दिया।उन्होंने अगर नोबेल जीता है तो इसका ये मतलब नहीं है कि उनकी हर सोच से हम सहमत हों।

बता दें कि वैश्विक गरीबी को कम करने और प्रयोगात्मक दृष्टिकोण अपनाने के लिए अभिजीत बनर्जी समेत तीन लोगों को नोबेल मिला है। नोबेल कमेटी ने इसकी जानकारी दी है।

अभिजीत विनायक बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं। वह वर्तमान में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में अर्थशास्त्र के फोर्ड फाउंडेशन इंटरनेशनल प्रोफेसर हैं। इसके साथ ही अभिजीत बनर्जी अब्दुल लतीफ़ जमील पॉवर्टी एक्शन लैब के सह-संस्थापक हैं, जो इनोवेशन फॉर पॉवर्टी एक्शन के अनुसंधान सहयोगी हैं और कंसोर्टियम ऑन फाइनेंशियल सिस्टम्स एंड पॉवर्टी के सदस्य हैं।

अभिजीत बनर्जी ने स्कूलिंग कोलकाता के साउथ प्वाइंट स्कूल में की। फिर ग्रेजुएशन कोलकाता के प्रेसीडेंसी कॉलेज में की। इसके बाद 1983 में इकोनॉमिक्स से एमए जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सटी से किया। बाद में 1988 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी की।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.