Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जब तक पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर मौजूद आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता है तब तक भारत की उससे कोई बातचीत नहीं हो सकती है। उन्होंने “बातचीत व आतंकवाद के साथ-साथ नहीं चलने” पर जोर दिया।

‘इंडियाज वर्ल्ड : मोदी गवर्नमेंट्स फॉरेन पॉलिसी’ पर बोलते हुए सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान को अपनी खुफिया एजेंसी आईएसआई और सेना पर नियंत्रण करने की जरूरत है जो बार-बार द्विपक्षीय संबंधों को नष्ट करने पर तुले रहते हैं। हम आतंकवाद पर बात नहीं करना चाहते हैं बल्कि हम इस पर कार्रवाई चाहते हैं। आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते।”

उन्होंने वायुसेना की बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के बदले की कोशिश पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भारत ने आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद को निशाना बनाया था। ऐसे में पाकिस्तानी सेना ने जैश की तरफ से हम पर हमला क्यों किया। उन्होंने कहा, “जैश की तरफ से पाकिस्तानी सेना ने हम पर हमला क्यों किया? आप न सिर्फ जैश को अपनी जमीन पर पाल रहे हैं बल्कि उन्हें वित्त पोषित कर रहे हैं और जब पीड़ित देश प्रतिरोध करता है तो आप आतंकी संगठन की तरफ से उस पर हमला करते हैं।”

मसूद अजहर को हमें सौंप

उन्होंने कहा, “अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान इतने उदार हैं और राजनय हैं, उन्हें हमें मसूद अजहर सौंप देना चाहिए।” विदेश मंत्री ने कहा कि भारत के पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते हो सकते हैं बशर्ते पड़ोसी देश “अपनी जमीन पर आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करे।”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.