Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भीड़ के भड़ास में किसी की जान चली जाए अब ऐसे मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं।  हाल ही में मथुरा में एक नेता के मर्डर के बाद लोगों ने उसके आरोपी भाई को पीट-पीट कर मार दिया था।  अब फिर ऐसा ही मामला सामने आया है।  दिल्ली में भी अंधी भीड़ द्वारा कानून अपने हाथ में लेकर इंसाफ करने का मामला सामने आया है। दिल्ली में 4 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म की कोशिश करने वाले युवक की भीड़ ने इस कदर पिटाई की, कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मामला पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर इलाके का है। कल रात कुछ लोगों ने पार्क में एक युवक को 4 साल की बच्ची के साथ गलत हरकत करते देखा था। मूल रूप से गांव चौबा, बस्ती, उत्तर प्रदेश निवासी संजय परिवार के साथ शशि गार्डन इलाके में रहता था। वहीं, पीड़िता परिवार के साथ पांडव नगर इलाके में रहती है। घर से थोड़ी दूरी पर उसकी मां सब्जी की रेहड़ी लगाती है। रात करीब दस बजे बच्ची अपनी मां के साथ रेहड़ी के पास खड़ी थी। इसी दौरान संजय उसे उठाकर संजय झील नामक एक पार्क में लेकर चला गया। बच्ची की मां को किसी ने बताया कि उसे एक युवक संजय झील की तरफ ले गया है। जब उसकी मां रात करीब 12 बजे कुछ स्थानीय लोगों के साथ मौके पर पहुंची तो देखा कि आरोपी बच्ची के साथ आपत्तिजनक हालत में था। इस दौरान वहां जुटे लोगों ने उसकी जमकर पिटाई की। जिसके बाद आरोपी ने करीब 30 घंटे के बाद इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

इस मामले के बाद पुलिस ने पीड़ित बच्ची की मां की शिकायत पर संजय कुमार गिरी उर्फ सोनू (25) के खिलाफ यौन शोषण और पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं, अज्ञात लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले के प्रयास का केस दर्ज हुआ है। जिसमें अब गैर इरादतन हत्या की धारा भी जोड़ी गई है। पुलिस ने शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंप दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पिटाई के दौरान किसी धारदार हथियार के सुबूत नहीं मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। वहीं संजय के  परिवार ने संजय को आरोपी की बजाय पीड़ित बताया है। उसके भाई अजय का कहना है कि संजय के साथ लूटपाट हुई और इसका विरोध करने पर उसे पीटा गया। हालांकि पुलिस ने इसे खारिज कर दिया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.