Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत ने पाकिस्तान को एक बार फिर करारा जवाब दिया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठाने के बाद भारत ने अपने प्रतिक्रिया देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए पाकिस्तान को ‘टेररिस्तान’ की संज्ञा दी। भारत ने कहा कि यह कितनी अजीब बात है कि जिस देश ने आतंक के सबसे बड़े सरगना ओसामा बिन लादेन को संरक्षण दिया, वह देश खुद को आतंकवाद से पीड़ित बता रहा है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने यूएन में पाकिस्तान को आतंकवाद से पीड़ित बताया था। अब्बासी ने कश्मीर मुद्दे को फिर से अंतर्राष्ट्रीय मंच पर छेड़ते हुए कहा था कि कश्मीर मुद्दे पर भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कश्मीर में जनमत संग्रह के प्रस्ताव का पालन नहीं कर रहा है। इसके अलावा अब्बासी ने पाकिस्तान को भारत का पीड़ित राष्ट्र बताया था। उन्होंने कहा, भारत और हमारे बीच तीन युद्ध हुए, हमें हर बार भारत से खुद को बचाना पड़ा। भारत के पास परमाणु ताकत है और ऐसे में वह हमारे लिए सबसे बड़ा खतरा है।

पढ़ें – यूएन में पाक का कश्मीर मुद्दा उठाना मतलब ‘मियां की दौड़ मस्जिद तक’ जैसा: अकबरूद्दीन

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव एनम गंभीर ने कहा, कि पाकिस्तान के सभी पड़ोसी देश उसके चालबाजियों और बेईमानी से भलीभांति परिचित और परेशान हो चुके हैं। वह इस समय आतंक का पर्याय बन चुका है और आतंकवादियों को संरक्षण दे रहा है। गंभीर ने दो टूक कहा कि पाकिस्तान अब ‘टेररिस्तान’ हो गया है।

पढें – आखिरकार पकिस्तान ने माना कि वह देता है आतंकियों को पनाह

In the United Nations, India named Pakistan as 'Terrorism Territory'गंभीर ने ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर के पाकिस्तान में रहने का जिक्र करते हुए कहा कि पाकिस्तान आतंकियों का अड्डा और निर्यातक देश बन गया है। वह एक पाक देश बनने की कोशिश में एक विशुद्ध आतंकवादी देश बन गया है।

इनाम गंभीर ने कहा कि यह काफी अजीब है कि जो देश विश्व के सबसे बड़े आतंकवादी को संरक्षण दिया था अब वह खुद को पीड़ित दिखाने का प्रयास कर रहा है।

पढ़ें – भारत ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय आतंक का दूसरा नाम पाकिस्तान’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.