कहते हैं सपनों का कोई दायरा नहीं होता है और पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती है। अपनी उम्र को पीछे छोड़ ओड़िशा के रहने वाले 64 साल के जय किशोर प्रधान ने NEET की परीक्षा पास कर ली है। उन्होंने MBBS के प्रथम वर्ष में दाखिला भी ले लिया है। जय किशोर प्रधान रिटायर्ड बैंकर हैं वे एसबीआई बैंक में काम करते थे।

VIMSAR के डायरेक्टर ललित मेहरा कहते हैं, “प्रधान को देखकर राज्य के कई लोग प्रोत्साहित होंगे और इस तरह की कहानियां भारतीय मेडिकल जगत में कम ही देखने को मिलती हैं। उन्होंने आगे कहा, जय किशोर प्रधान लोगों के लिए प्रेरणा बन गए हैं।”

वहीं अपने सफर के बारे में बताते हुए प्रधान कहते हैं, “मेरी बेटी के देहांत ने मुझे NEET परिक्षा में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया। मैं जब तक जीवित हूं देश की सेवा करना चाहता हूं।”

बता दें कि एसबीआई के एक पूर्व अधिकारी जय किशोर प्रधान ने बुधवार को विकलांगता आरक्षण श्रेणी में राज्य के वीर सुरेंद्र साई प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया।

MBBS की डिग्री खत्म होने तक प्रधान की उम्र 70 साल हो जाएगी। जय किशोर कहते हैं। वे अपना जीवन लोगों की सेवा में समर्पित करना चहाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here