Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मध्य प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में जनता को लुभाने के लिए होड़ मची है क्योंकि यहां पर 3 नवंबर को 28 सीटों पर उपचुनाव होने वाला है। इस सुनहरे मौके के एक पल को बिना गवाए राजनेता एक दूसरे पर हमला बोल रहे हैं। खबर है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौन उपवास कर रहे हैं।

दरअसल चुनाव प्रचार  के दौरान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम शब्द से संबोधित किया है। इस बात से नाराज बीजेपी मुद्दे को भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

शिवराज सिहं चौहान का कहना है कि बीजेपी सरकार महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचार और अभद्र टिप्पणी को कतई  नहीं बर्दाश करेगी।

कमलनाथ के बयान के खिलाफ शिवराज सरकार ने मोर्चा खोल दिया है। शिवराज सिंह अपने समर्थकों और ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भोपाल में दो घंटे तक मौन धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं। बीजेपी के कई नेता अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन कर रहे हैं।

धरने पर बैठने से पहले शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि, “बहन बेटियों का अपमान हम नहीं सहन करेंगे। देश में बेटियों का सम्मान रखा जाएगा।”

बता दें कि, मध्य प्रदेश के डबरा में कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने मंच से कहा, ‘सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं।

यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ‘यह क्या आइटम है’।

इतना ही नहीं, कमलनाथ के अलावा पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि जनता 3 नवंबर को इमरती देवी को जलेबी बना देगी।

प्रत्याशी इमरती देवी ने कहा, कि अगर मेरा जन्म गरीब परिवार में हुआ तो इसमें मेरी क्या गलती है? अगर मैं दलित समुदाय से आती हूं तो उसमें मेरी क्या गलती है? मैं सोनिया गांधी (जो एक मां भी हैं) से अपील करना चाहती हूं कि वो इस तरह के लोगों को अपनी पार्टी में जगह न दें। अगर एक महिला के खिलाफ इस तरह के शब्द के प्रयोग होंगे तो वो आगे कैसे बढ़ेगी?

गौरतलब है शिवराज सिंह बेटियों को इंसाफ दिलाने के लिए मौन धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। पर इस बीच मध्य प्रदेश में कई बलात्कार की घटनाएं हुईं हैं जिस पर मुख्यमंत्री ने एक शब्द नहीं बोला है। अभी 1 अक्तूबर को ही मध्य प्रदेश के खरगोन में एक नाबालिग बच्ची के साथ कथित तौर पर गैंगरेप हुआ था। इस बात की जानकारी पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान ने दी थी।

वहीं दलित महिला के साथ भी कुछ दबंगों ने गैंगरेप किया था। ये घटना 5 अक्तूबर की है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.