होम देश Lakhimpur Kheri Violence: महाराष्ट्र बंद, लखनऊ में प्रियंका गांधी का मौन व्रत

Lakhimpur Kheri Violence: महाराष्ट्र बंद, लखनऊ में प्रियंका गांधी का मौन व्रत

Lakhimpur Kheri Violence का मामला अब उत्तर प्रदेश से निकलकर देश के अन्य राज्यों में भी जा पहुंचा है। मोदी सरकार के कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को कथिततौर से गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा जीप से रौंद डालने की घटना का विरोध अब देशव्यापी होता जा रहा है।

इसी मामले में महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महाविकास आघाड़ी (MVA) सरकार के तीन दलों ने सोमवार को प्रदेशव्यापी बंद का आह्वान किया है। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के संयुक्त बंद पर प्रतिक्रिया देते हुए एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि आज आधी रात से प्रदेशव्यापी बंद शुरू हो जायेगा।

इसके साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र की जनता से अपील करते हुए कहा कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के इस बंद में जनता शामिल हो और लखीमपुर खीरी में हुई किसानों की हत्या के विरोध में एकजुटता दिखाए।

नवाब मलिक ने कहा, महाविकास आघाड़ी संयुक्त रूप से मांग करती है कि नरेंद्र मोदी सरकार केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को फौरन बर्खास्त करे।

केंद्र सरकार पर हमला करते हुए एनसीपी प्रवक्ता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद केंद्रीय मंत्री के बेटे को गिरफ्तार किया गया। अगर सुप्रीम कोर्ट मामले में दखल नहीं देती तो मंत्री का बेटा अब भी सलाखों से दूर रहता।

महाराष्ट्र बंद का जबरदस्त असर नवी मुंबई के एपीसमी मार्केट में देखने को मिला। व्यापारियों ने बताया कि इस मार्केट में रोजाना करीब 700 से अधिक सब्ज़ी और फलों की गाड़ियां आया करती थी, लेकिन आज के महाराष्ट्र बंद के कारण पूरे मार्केट में सन्नाटा छाया हुआ है।

लखीमपुर खीरी हिंसा: BJP कार्यकर्ताओं की मौत पर Rakesh Tikait बोले, “यह एक्शन का रिएक्शन था”

महाराष्ट्र बंद के साथ लखीमपुर मामले में एक और बड़ी खबर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से आ रहा है। जहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज पीड़ित किसान परिवारों को न्याय दिलवाने के लिए राजभवन के बाहर मौन व्रत रख रही हैं।

यूपी में कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी ने बीते रविवार को वाराणसी में किसान न्याय रैली को संबोधित किया था। बताया जा रहा है कांग्रेस प्रियंका गांधी के नेतृत्व में किसानों पर हुए जुल्म को लेकर उत्तर प्रदेश में बड़ा अभियान चलाने की तैयारी में है।

मालूम हो कि पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश के Lakhimpur Kheri जिले में हुई भयानक हिंसा में चार किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी और किसानों के मुताबिक इसका मुख्‍य आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra) का बेटा Ashish Mishra है।

SC की सख्ती के बाद, UP Police ने लखीमपुर हिंसा के दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

भारी जन दबाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 5 अक्‍टूबर को आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) व अन्य के खिलाफ FIR दर्ज की। इस एफआईआर में 20 आरोपियों के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश के तहत मामला दर्ज किया गया।

लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में 3 अक्टूबर को किसानों को कुचलने के आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) 10 अक्टूबर की सुबह पुलिस के सामने पेश हुए।

आशीष कल दर्जनों पुलिसकर्मियों के साथ लखीमपुर खीरी अपराध शाखा कार्यालय में पूछताछ के लिए पहुंचे थे। जहां से उन्हें गिरफ्तार करके न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

APN News Live Updates: Philippines भारत से खरीदेगा BrahMos Cruise Missile, पढ़ें 28 जनवरी की सभी बड़ी खबरें…

APN News Live Updates: Achievement of India: भारत के लिए शुक्रवार का दिन बेहद खास रहा मेक इन इंडिया प्रोजेक्‍ट Make In India Project को...

Bollywood News Updates: स्मृति ईरानी ने मौनी रॉय को दी शादी की बधाई, पढ़ें Entertainment से जुड़ी सभी खबरें

Bollywood News Updates: टीवी का फेमस एक्ट्रेस मौनी रॉय (Mouni Roy)और सूरज नाम्बियार (Suraj Nambiar) शादी के बंधन में बंध गए है।

Akhilesh Yadav ने Jayant Chaudhary के साथ दिखाई ताकत, CM Yogi ने सपा अध्यक्ष को बताया ‘जिन्ना उपासक’, जानें यूपी चुनाव में कैसा रहा...

Akhilesh Yadav: उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से चुनावों की शुरुआत हो रही है। इससे पहले तरह तरह के चुनावी वादे, आरोप-प्रत्यारोप औऱ सियासी ड्रामा देखने को मिल रहा है।

Cricket News Updates: जिम्बाब्वे के क्रिकेटर Brendon Taylor को ICC ने किया बैन, पढ़ें दिनभर की सभी बड़ी खबरें

Cricket News Updates: जिम्बाब्वे की टीम के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी ने बैन लगाया है। Brendon Taylor को हर प्रकार की क्रिकेट से साढ़े तीन साल के लिए बैन किया गया है। ब्रेंडन टेलर ने खुद पर लगे चार आरोपों को स्वीकार किया है, जिसमें तीन आईसीसी एंटी करप्शन कोड से संबंधित आरोप थे, जबकि एक आरोप आईसीसी एंटी डोपिंग कोड से संबंधित था। इसी वजह से ब्रेंडन टेलर को साढ़े तीन साल के लिए क्रिकेट की हर विधा से दूर रहना होगा।