Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में ममता बनर्जी की मेगा रैली चल रही है। जहां तृणमूल कांग्रेस के लाखों कार्यकर्ता व समर्थक मौजूद हैं। तृणमूल के समर्थकों का यह हुजूम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के यूनाइटेड इंडिया रैली के लिए उमड़ा है। इस रैली के जरिए बनर्जी लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष की ताकत प्रदर्शित करना चाहती हैं।

वही शत्रुघ्न सिन्हा के ममता की रैली में शामिल होने पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है। बीजपी नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि कुछ लोगों की इच्छाएं बहुत बड़ी हैं। उन्होंने कहा कि सिन्हा मौका परस्त हैं, उनपर पार्टी ने संज्ञान ले लिया है। जल्दी ही उन्हें लेकर पार्टी कोई फैसला करेगी। ममता की रैली पर उन्होंने कहा कि कोलकाता में सिद्धांत विहीन नेताओं की संगोष्ठी चल रही है।

रैली में हार्दिक पटेल बोले

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के मेगारैली में सबसे पहले बोलने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए विपक्ष एकजुट है। साथ ही उन्होंने कहा कि सुभाष बाबू (सुभाष चंद्र बोस) लड़े थे गोरों से, हम लड़ेंगे चोरों से।

संविधान को खत्म करने की कोशिश- जिग्नेश

हार्दिक के बाद जिग्नेश मेवाणी ने कहा कि देश देश बुरे दौर से गुजर रहा है। विपक्ष का एकजूट होना बड़ा संदेश है। देश में किसान, मजदूर और दलितों का शोषण हो रहा है। संविधान को खत्म करने की कोशिश की जा रही है।

हेमंत सोरेन बोले

झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि क्षेत्रीय दल सांप्रदायिक ताकतों को जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में दलितों और आदिवासियों का शोषण हुआ है।

यह रैली नहीं रैला- जयंत चौधरी

अजित सिंह चौधरी के बेटे जयंत चौधरी ने कहा कि यह रैली नहीं रैला है। निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए जनता के पैसों को लूटा जा रहा है। नेता जिद्दी भी होता है। चौधरी चरण सिंह किसानों के लिए जिद्दी थे। ममता कोलकाता के लिए जिद्दी हैं। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के लिए जिद्दी हैं, उन्हें अपने लोगों को ठेका देने की जिद्द है और यह जिद्दी देश को पसंद नहीं है। अच्छे दिन लाना है तो मोदी को भगाना है। विपक्षी दल कदम से कदम मिलाकर चलेंगे और बीजेपी के तंबू को उखाड़ फेकेंगे।

यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने की है- यशवंत सिन्हा

बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि सवाल एक व्यक्ति को हटाने का नहीं सोच का है। मोदी सरकार ने हर लोकतांत्रिक व्यवस्था को खत्म बर्बाद करने में लगी है। मोदी को मुद्दा न बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने की है। कश्मीर की समस्या का समाधान गोली से नहीं बोली से होगा। मुझे पाकिस्तान का एजेंट भी कहा गया। लेकिन क्या प्यार की बात करना देशद्रोह है।

राफेल की जगह बोफोर्स बोल गए शरद यादव, मांगी माफी

शरद यादव ने कहा कि नोटबंदी के कारण देश की अर्थव्यवस्था कई साल पीछे चली गई है। उन्होंने कहा था कि दो करोड़ रोजगार देंगे लेकिन कितनों को मिला। केंद्र की सरकार हर संस्था को बर्बाद कर रही है। भारत की आजादी में जितनी कुर्बानी बंगाल ने दी है देश के किसी राज्य ने नहीं दी है। 2019 में केंद्र की सरकार बंगाल की खाड़ी बहाने का काम करेंगे।

देश की आजादी खतरे में है। व्यापार और किसान खतरे में हैं। सभी पार्टी के नेताओं को गोलबंद होना पड़ेगा। जनता भी फूट डालने वाले लोगों को हराने का काम करे यह अपील है। इस दौरान शरद यादव ने घोटाले की बात करते हुए गलती से राफेल की जगह बोफोर्स कह दिया हालांकि उन्होंने बाद में इस पर माफी मांगते हुए कहा कि बोफोर्स नहीं राफेल घोटाले की बात कर रहा था। बाद में ममता ने उनकी बात को दोहराया।

फारुक अब्दुल्ला बोले

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि देश में लोगों को बांटने का काम हो रहा है। हिन्दू-मुसलमानों को बांटने का काम किया जा रहा है। पूरे देश में आग लगी हुई है. इसे रोकने के लिए हमें कुर्बानी देनी होगी। इस कुर्बानी के लिए लोगों से पहले नेताओं को आगे आना होगा। आज जम्मू कश्मीर जिस हालत में है उसकी जिम्मेदार भी बीजेपी है। मैं मुसलमान जरूर हूं लेकिन पहले भारतीय हूं। जिसे आप ईवीएम कहते हैं वो चोर मशीन है, इसे खत्म करना चाहिए।

इससे चुनाव में चोरी की जाती है। इसके लिए हम सभी नेताओं को एक होकर चुनाव आयोग जाना चाहिए। देश की खुशहाली के लिए इस सरकार को हटाना होगा। यह सरकार महिला आरक्षण बिल पर मौन रहती है और तीन तलाक पर आवाज बुलंद कर देती है। हमें सरकार की मंशा को समझना होगा। हमें भारत को मजबूत करना होगा। उसके लिए दिल मिलाना होगा। सभी दल के नेता यह न सोचें कि कौन प्रधानमंत्री बनेगा बल्कि पहले उन्हें यह सोचना चाहिए कि मोदी सरकार को कैसे हटाना है।

स्टालिन ने तमिल में किया संबोधित

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने तमिल में संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार की जमकर आलोचना की। उनके संबोधन के दौरान मंच से ही उनके भाषण को बांग्ला में भी ट्रांसलेट किया जा रहा था। इस दौरान उन्होंने नारा लगाया कि मोदी हटाओ, देश बचाओ। मई में होने वाले आम चुनाव देश के लिए दूसरा स्वतंत्रता संग्राम होगा।

मोदी को हटाने के लिए एक हुए सपा-बसपा

बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा केंद्र की मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। सरकार बनन से पहले बहुत सारे वादे किए और सत्ता पर काबिज होने के बाद सभी वादों को भूल गए। किसान, गरीब, मजदूरों और दलितों को परेशान किया है। करोड़ों लोगों को इनके कामों की वजह से बेरोजगार होना पड़ा है। केंद्र की सरकार ने कई कारखाने बंद करवा दिया। इसलिए ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकना जरूरी है।

BJP ने CBI और ED से गठबंधन किया- अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि जो बात बंगाल से चलेगी वो देश में दिखाई देगी। लोग सोचते थे कि हमारा गठबंधन नहीं होगा लेकिन गठबंधन हो गया। वो (बीजेपी) कहते हैं कि विपक्ष के पास दूल्हे (पीएम पद के उम्मीदवार) बहुत हैं, तो जनता जिसे चुनेगी वो ही पीएम बनेगा। लेकिन भाजपा बताए कि उनके पास विफल पीएम के अलावा किसका चेहरा है।

2019 में हमें एक नया PM मिलेगा- नायडू

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने ममता के मंच से बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पीएम ने कई वादे किए लेकिन कुछ भी पूरा नहीं हुआ। वो पब्लिसिटी पीएम हैं न कि परफॉर्मिंग पीएम। किसान परेशान हैं। उन्होंने कहा कि एमएसपी का वादा करके मोदी सरकार देना भूल गई। राफेल पर उन्होंने मोदी सरकार पर गलत एफेडेविड देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार भ्रष्टाचार के मामले में टॉप पर है।

हम यहां किसी पद की अपेक्षा के लिए यहां नहीं आए- शरद पवार

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने कहा कि देश की संस्थाओं पर हमला हो रहा है। अंबेडकर के बनाए संविधान पर हमला हो रहा है। सभी पर मोदी सरकार के माध्यम से हमले किए जा रहे हैं। मोदी सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी का कदम उठाया, जिससे लोग परेशान हुए। आज किसान आत्महत्या के रास्ते पर जा रहा है। उद्योग बंद हो रहे हैं। बेरोजगारी बढ़ रही है।

रैली में बोले केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले पांच साल में नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने देश का कबाड़ा कर दिया। आज देश का युवा परेशान है, उसके पास नौकरी नहीं है, पीएम मोदी ने नौकरी के नाम पर झूठ बोलकर धोखा दिया। आज देश में सवा करोड़ नौकरियां खत्म हो गई हैं। किसान बीजेपी से गुस्सा हैं, आत्महत्या कर रहे हैं।

फसल बर्बाद होती है तो मोदी सरकार किसानों को इंश्योरेंस कंपनियों के हवाल कर देते हैं। इंश्योरेंस कंपनियां मोदी जी के दोस्तों की हैं. ये किसानों को पैसा नहीं देते हैं। बीजेपी के नेता सोशल मीडिया पर महिलाओं को गाली देते हैं और पीएम उन्हें फॉलो करते हैं। आज देश में दलितों का अत्याचार हो रहा है, मॉब लिंचिंग की घटनाओं में इनकी हत्या की जा रही है।

अगर सच कहना बगावत है तो समझो मैं भी बागी हूं- शत्रुघ्न सिन्हा

शत्रुघ्न सिन्हा ने ममता की रैली में कहा कि देश बदलाव चाहता है। मुझसे लोग कहते हैं कि मैं बीजेपी के खिलाफ बोलता हूं, लेकिन अगर सच कहना बगावत है तो समझो मैं भी बागी हूं। हो सकता है कि इस रैली के बाद मैं भाजपा में नहीं रहूं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.