होम ज़रा हटके संस्कृति

संस्कृति

Annapurna Jayanti है आज, जानें पूजा विधि और कथा

अन्नपूर्णा माता (Annapurna Mata) को भोजन की देवी कहा जाता है। सनातन धर्म एक ऐसा धर्म है जिसमें हर उस चीज को...

अपने जीवन से दूर करना चाहते हैं सारे कष्ट तो जपिये हनुमान जी के ये नाम

संकटमोचन हनुमान जी की पूजा-अराधना मंगलवार और शनिवार के दिन किया जाता है। राम भक्त हनुमान सदा अपने भक्तों की रक्षा करते...

शनिवार के दिन भूलकर भी ना करें ये काम वरना शनिदेव हो जाएंगे नाराज

शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित है। मान्यता है कि शनिवार को शनिदेव की पूजा करने से कई कष्ट दूर होते हैं।...

Gita Jayanti: मोक्षदा एकादशी और गीता जयंती आज, आज गीता का पाठ माना जाता है शुभ

Gita Jayanti: आज मोक्षदा एकादशी (Mokshada Ekadashi) है। आज ही गीता जयंती भी मनायी जाती है। हर साल मार्गशीर्ष महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी को गीता जयंती के रूप में मनाया जाता रहा है। माना जाता है कि गीता ग्रंथ का प्रादुर्भाव मार्गशीर्ष मास में शुक्लपक्ष की एकादशी को ही हुआ था। गीता जयंती के दिन भगवना विष्णु की पूजा करने से ज्ञान की प्राप्ति होती है। साथ ही साथ मनुष्य को मोक्ष भी मिलता है।

Ganesh Ji के हैं भक्त तो, बुधवार को ऐसे करें पूजा, दूर होंगे सारे कष्ट

मान्यता है कि श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन है बुधवार। साथ ही, इस दिन बुध ग्रह के निमित्त भी पूजा की जाती है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति में हो तो बुधवार को गणेश जी का पूरे विधि विधान से पूजा करने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं।

मंगलवार को भूलकर भी न करें यह काम, हनुमान जी हो सकते हैं नाराज, पढ़ें पूजा विधि

नाशे रोग हरे सब पीरा जो सुमीरे हनुमत बलबीरा… हर दुख, हर कष्ट को महाबली हनुमान हर लेते हैं। मंगलवार को बजरंगबली का दिन माना जाता है। इस दिन श्रद्धालु पूरे विधि विधान से हनुमान जी की पूजा करते हैं। साथ ही व्रत भी रखते हैं। ऐसी मान्यता है कि कलयुग में हनुमान जी ही पृथ्वी पर विराजमान हैं। इसलिए सबसे ज्यादा भक्त उनके ही हैं। संकट मोचन हनुमान अपने भक्तों के सारे कष्ट हर लेते हैं। और उन्हें बल, बुद्धि, यश का वरदान देते हैं।

सोमवार को भगवान शिव की क्यों करते हैं पूजा? इस तरह करें भोले को प्रसन्न

सोमवार को भगवान शिव की पूजा करने की प्राचीन परंपरा है। शिवजी को सोमेश्वर भी कहा जाता है। कहा जाता है कि आज के दिन ही चंद्रमा भी भगवान शिव की पूजा करते हैं, जिससे उन्हें निरोगी काया मिली थी, इसलिए भी सोमवार के दिन शिव जी की अराधना की जाती है। आज के दिन भगवान शिव की अराधना का मतलब होता है चंद्रदेव को प्रसन्न करना। शास्त्रों के अनुसार आज के दिन शिव जी को बेलपत्र अर्पित करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

IFFI के समापन समारोह में पहुंचे Anurag Thakur, बोले- OTT से युवा क्रिएटिव माइंड्स को मिला प्लेटफॉर्म

गोवा के पणजी में भारत के 52वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) का समापन समारोह आयोजित किया गया। फिल्म महोत्सव के समापन समारोह में पहुंचे केंद्रीय मंत्री Anurag Thakur ने कहा कि OTT प्लेटफॉर्म की शुरूआत की गई तो युवा क्रिएटिव माइंड्स को इससे एक प्लेटफॉर्म मिला है। सिनेमा जगत में कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने जनजातीय क्षेत्र में जाकर वहां की बोली सीख कर उस पर फिल्म बनाने का काम किया है। ये हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाने का प्रयास है। समापन के अवसर पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह भी कहा कि मैं यह चाहता हूं कि '75 क्रिएटिव माइंड्स' इतना अच्छा काम करें कि दुनिया भर के सिनेमा जगत में उनकी पहचान बने।

Friday को मां लक्ष्मी की इस तरह करें पूजा, धन की नहीं होगी कमी

मां लक्ष्म की पूजा बहुत ही विधि विधान से की जाती है। बिना आरती के मां की पूजा अधूरी होती है। इसलिए जब भी शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करें तो आरती जरूर करें। मान्यता है कि शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए लाल रंग के वस्त्र धारण करने चाहिए।

Ganesh Ji: रिद्धी सिद्धी के दाता गणेश जी की बुधवार को पूजा करने से दूर होते हैं सारे कष्ट, आरती करने से नकारात्मक शक्तियां...

घर में पूजा के बाद गणेश जी की आरती जरूर की जाती है। जब तक गणेश जी की आरती ना की जाए, तब तक कोई पूजा सफल नहीं मानी जाती। ऐसी मान्यता है कि गणपति बप्पा की आरती करने से सभी भगवान भी प्रसन्न होते हैं और घर में हमेशा खुशियां बनी रहती हैं।

Guru Teg Bahadur Martyrdom Day: सिखों के 9वें गुरु तेग बहादुर जी को कहा जाता है हिंद की चादर, आज है शहीदी दिवस

देश के इतिहास में भारत माँ के कुछ ऐसे वीर सपूत भी हुए हैं, जो धर्म की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने से भी पीछे नहीं हटे। उन्हीं में से एक हैं सिखों के 9वें गुरु तेग बहादुर जी (Guru Teg Bahadur Ji), जिन्हें अक्सर हिंद की चादर कहा जाता है, जिसका अर्थ है भारत की ढाल। हर साल 24 नवंबर को तेग बहादुर जी का शहीदी दिवस मनाया जाता है। गुरु तेग बहादुर ने इंसानियत के कल्याण के लिए अपने प्राणों की आहुती दे दी थी।

Chandra Grahan 2021: 580 साल बाद लगा था इतना लंबा चंद्र ग्रहण

Chandra Grahan 2021: साल 2021 का आखिरी आंशिक चंद्र ग्रहण आज लगने वाला है। मिली जानकारी के अनुसार 580 साल बाद इतना लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि करीब 6 घंटे 2 मिनट होगी. ये आंशिक चंद्र ग्रहण होगा जो भारत के उत्तर-पूर्वी राज्यों में दिखाई देगा। बता दें कि 580 साल पहले यानी कि 18 फरवरी 1440 में इतना लंबा चंद्र ग्रहण पड़ा था।

Most Read

APN News Live Updates: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बोले राष्ट्रपति- देशवासियों ने कोरोना के खिलाफ असाधारण दृढ़-संकल्प और कार्य-क्षमता का किया प्रदर्शन...

APN News Live Updates: विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली में बैठक चल रही है। आज इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेने वाले हैं।

केंद्र सरकार ने की Padma Awards की घोषणा, जनरल बिपिन रावत और कल्याण सिंह को मरणोपरांत मिला पद्म विभूषण

Padma Awards: केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कारों (Padma Awards) की घोषणा की है। देश के पहले सीडीएस बिपिन रावत और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है।

Exclusive Interview: डॉक्टर की पढ़ाई करने के बाद Sunil Taneja बने स्पोर्ट्स कमेंटेटर, Pro Kabaddi League में इनकी आवाज ही पहचान बनी

Pro Kabaddi League शुरू होने के बाद Sunil Taneja ने कबड्डी की कमेंट्री में अपना लोहा मनवाया है। अब तो ऐसा हो गया है कि कबड्डी में सुनील तनेजा कमेंट्री करते नजर नहीं आते हैं तो ऐसा लगता ही नहीं है कि कबड्डी देख रहे हैं। डॉक्टर होते हुए भी उन्होंने कमेंट्री में अपना करियर बनाया। डीबी आयुर्वेदिक कॉलेज & हॉस्पिटल, पंजाब से डॉक्टर की डिग्री प्राप्त करने के बाद उन्होंने अपना रुख स्पोर्ट्स कमेंट्री की तरफ कर लिया। एपीएन के स्पोर्ट्स जॉर्नलिस्ट उज्जवल सिन्हा ने सुनील तनेजा से विशेष बातचीत की। पेश हैं कुछ मुख्य अंश -

Gallantry Awards: राष्‍ट्रपति Kovind ने दी वीरता पुरस्कारों को मंजूरी, 384 जवानों को मिलेगा सम्‍मान

Gallantry Awards: राष्ट्रपति Ram Nath Kovind ने 73वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर सशस्त्र बलों के कर्मियों और अन्य के लिए...