प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को ओडिशा में 1545 करोड़ रुपये से अधिक की लागत वाली विकास परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित की। मोदी ने इस मौके पर कहा कि यह सभी परियोजनाएं शिक्षा, संपर्क, संस्कृति और पर्यटन को बढ़ावा देने से जुड़ी हैं। इन परियोजनाओं के माध्यम से संबंधित क्षेत्र के लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार देश में बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए प्रतिबद्ध है जिससे रोजगार के अवसर पैदा हों और नये भारत के लिए विकास की प्रक्रिया जारी रहे।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर 813 किलोमीटर झारसुगुडा-विजिनगराम और संबलपुर-अंगुल लाइन पर 1085 करोड़ रुपये की लागत वाले विद्युतीकरण कार्य राष्ट्र को समर्पित किये। इसके अलावा उन्होंने 100 करोड़ रुपये की लागत से झारसुगुडा में मल्टी मॉडल लाजिस्टिक पार्क, 13.5 किलोमीटर बरपाली-डूंगरीपाली और बालनगीर-देवगांव सड़क,  थेरुवली-सिंगापुर सड़क स्टेशन के बीच एक पुल का भी उद्घाटन किया। मोदी ने सोनपुर में केन्द्रीय विद्यालय के स्थायी भवन की आधारशिला रखी और बोलनगीर- बिचुपाली से नयी रेल लाइन का उद्घाटन किया। उन्होंने जगतसिंह, केन्द्रपाड़ा, पुरी, कंधमाल, बारगढ़ और बलनगीर में नये पासपोर्ट कार्यालय का भी उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री ने गंधाहरादी (बौध) में नीलामाधव और सिद्धेश्वर प्राचीन मंदिर के नवीनीकरण और पुनरुद्धार कार्य का शुरुआत की। मोदी ने कहा कि इन सभी परियोजनाओं से क्षेत्र में आधारभूत संरचना के विकास से सभी इलाके आपस में बेहतर तरीके से जुड़ जाएंगे और व्यापार की राह भी आसान होगी। एमएमएलवी से आयात-निर्यात और घरेलू सामान और निजी तौर पर भारवाहक यातायात में सुविधा होगी। इस सहूलियत से आसपास के स्टील, सीमेंट और पेपर बनाने वाले जरूरी उद्योग भी लाभान्वित होंगे। मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क से ओडिशा का झारसुगुड़ा प्रमुख लॉजिस्टिक हब बन जाएगा।

प्रधानमंत्री ने बोलनगीर और बिछूपाली के बीच 15 किलोमीटर लंबी नयी रेल लाइन का भी उद्घाटन किया। इस रेलवे लाइन से ओडिशा के तटीय जिले और राज्य के पश्चिमी इलाके जुड़ जायेंगे और राज्य के सभी हिस्सों का विकास होगा। इस रेलवे लाइन से भुवनेश्वर और पुरी से नयी दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े शहरों के बीच यात्रा का समय भी घटेगा। रेलवे लाइन से ओडिशा के कई एमएसएमई और कुटीर उद्योगों को फायदा मिलेगा और राज्य में खनन सेक्टर के लिए भी नये अवसर खुलेंगे।

झारसुगुड़ा-विजयनगरम और संबलपुर-अंगुल के बीच 813 किलोमीटर लंबी रेल पटरियों के विद्युतीकरण का लोकार्पण होने से बिना रुके इस लाइन पर ट्रेनों का आवागमन होगा और 13.5 किलोमीटर लंबे बरपाली-डुंगरीपाली और बोलनगीर-देवगांव रोड के बीच पटरियों के दोहरीकरण से ओडिशा की औद्योगिक क्षमता को भी बढेगी। ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल, केंद्रीय मंत्री जुएल ओराम और धर्मेंद्र प्रधान, ओडिशा विधानसभा में विपक्ष के नेता और स्थानीय विधायक नरसिंह मिश्रा, बीजू जनता दल के स्थानीय सांसद कालीकेश सिंहदेव भी इस मौके पर मौजूद थे।

प्रधानमंत्री मोदी का गत एक माह में राज्य का यह तीसरा दौरा है। इससे पहले उन्होंने पिछले साल 24 दिसंबर को तटीय ओडिशा के खोड़धा में 14523 करोड़ रुपये की कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया था जबकि गत पांच जनवरी को आदिवासी बहुल मयूरभंज जिले के बारीपदा के दौरे पर आये प्रधानमंत्री ने कुछ प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया था और 4500 करोड़ रुपये के कई अन्य प्रोजेक्ट का उद्घाटन भी किया था।

किसानों को मिलेगी मदद, बेरोजगारों को नौकरी : मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि ओडिशा में संपर्क का विकास किया जा रहा है जिससे इसका दूसरे राज्यों तक पहुंच आसान होगी और उद्योग के लिए बेहतर माहौल बनेगा। एक महीने में तीसरी बार ओडिशा पहुंचे मोदी ने विकास से जुड़ी कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने एक जनसभा में किसानों और बेरोजगारों की बात की और विकास के लिए अपनी सरकार की प्रतिबद्धता भी जाहिर की प्रधानमंत्री ने कहा,“ओडिशा में संपर्क का विस्तार किया जा रहा है। इससे राज्य का दूसरे राज्यों तक सभी को आने-जाने में आसानी होगी। इसके अलावा उद्योगों के लिए बेहतर माहौल बनेगा। किसान भाई अपनी  उपज को बड़ी मंडियों और शहरों तक ले जा सकेंगे और जब उद्योग बढ़ेंगे तो युवाओं के लिए रोजगार के तमाम साधन भी विकसित होंगे।”

मोदी ने कहा कि ओडिशा के विकास के लिए उनकी सरकार लगातार काम कर रही है। उन्होंने शिक्षा, संपर्क, संस्कृति और पर्यटन से जुड़ी 1545  करोड़ रिपीट  1545 रुपये से ज्यादा की परियोजनाओं के लोकार्पण, उद्घाटन और शिलान्यास का जिक्र करते हुए कहा कि शिक्षा से ही मानव संसाधन का विकास होता है। प्रधानमंत्री ने छह नए पासपोर्ट सेवा केंद्रों के शुरू होने पर खुशी जताते हुए कहा कि अब बलांगीर, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, पुरी, फूलबानी और बारगढ़ के लोगों को पासपोर्ट लेने के लिए दूर नहीं जाना होगा।

साभार, ईएनसी टाईम्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here