Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे अहम योजना है पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना। इस योजना को लेकर प्रधानमंत्री ने आज उत्तरप्रदेश में कुछ स्ट्रीट वेंडर से संवाद किया। संवाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुआ जिसमें पीएम ने वाराणसी के अरविंद से पुछा मोमोज कैसे बनता है ?

प्रधानमंत्री ने इस योजना का लाभ उठाने वाले स्ट्रीट वेंडर से उनके काम के बारे में पुछा साथ ही योजना के कारण उनके जीवन में क्या बदलाव आया है इस पर भी चर्चा की। आगरा में फलों की दुकान लगाने वाली प्रीति से पुछा, “आप की फलों की दुकान कैसे चल रही है ?”

नरेंद्र मोदी ने संवाद की शुरूवात आगरा में सड़क किनारे फल बेचने वाली प्रीति से की। महिला ने बताया लॉकडाउन के कारण खासा परेशानियां उत्पन्न हो गई थी पर नगर निगम की मदद से वे अपनी दुकान फिर से खोल पाई हैं। साथ ही उन्होंने बताया नवरात्र में फलों की विक्री अधिक हुई है। प्रीति ने कहा वे डीजिटल पेमेंट को बढावा दे रही हैं। प्रीति ने ग्राहकों से डिजिटल ट्रांजैक्शन के तहत मिले पैसे का पता लगाने का तरीका बताया। इस पर पीएम ने उनकी तारीफ की।

इस योजना पर जानकारी देते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने बताया कोरोना के कारण सड़क किनारे दुकान लगाने वाले, स्ट्रीड वेंडर की हालत खराब हो गई थी। उनके जीवन को पटरी पर लाने के लिए पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना की शुरूवात की गई थी। इसकी शुरूवात 1 जून को हुई थी। उन्होंने बताया कि ‘पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना’ की सभी तीनों श्रेणियों आवेदन, स्वीकृति और ऋण वितरण में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए उत्तर प्रदेश में 6.40 लाख से अधिक स्ट्रीट वेंडर ने ऋण के लिये आवेदन किए। इनमें से 3,62,785 से अधिक आवेदनों के लिए ऋण स्वीकृत भी कर लिया गया है। शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने बताया कि राज्य के 651 शहरी स्थानीय निकायों में 3,050 पंजीकृत वेंडिंग जोन हैं और इन क्षेत्रों में, 7.78 लाख से अधिक विक्रेताओं की पहचान कर ली गई है।

यूपी में 6.68 लाख से अधिक पंजीकृत विक्रेता हैं, सरकार ने 4,70,923 विक्रेताओं को प्रमाण पत्र भी जारी कर दिये हैं। इन विक्रेताओं को 4.77 लाख से अधिक कार्ड जारी किए गए हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे अपने व्यवसाय को बिना किसी परेशानी के चला सकें।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.