Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत से जुड़े सवालों के उत्तर अभी भी परदे में हैं। इस बीच सुनंदा पुष्कर की मौत की जांच SIT से कराने की बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दी है। गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता सुब्रमण्यम स्वामी से पूछा कि आपके सूत्र क्या हैं, जहां से आपके पास इतनी जानकारी आई है और जांच पर आप सवाल खड़ा कर रहे हैं? दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि अगर आपको सबूतों की जानकारी थी तो आपने पहले सबूतों को पेश क्यों नहीं किया?  आपने अपनी याचिका ऑनलाइन डाल दी है। जानते हैं किसी की निजता पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा? क्या आपको पता नहीं है कि जिसने याचिका दाखिल की है वह किसी राजनीतिक पार्टी से है और जिसके खिलाफ आरोप है वह दूसरी राजनीतिक पार्टी से है, जो विपक्ष में है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा क्या केंद्र स्वामी के आरोपों को सही मानता है? स्वामी कह रहे हैं कि शशि थरूर ने जांच को प्रभावित किया, जिस पर केंद्र ने कहा कि वह स्वामी के आरोपों का समर्थन नहीं करते। दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि ये जनहित याचिका नहीं राजनीति हित की याचिका का उदाहरण है।

गौर तलब है कि सुनन्दा पुष्कर बहुचर्चित इण्डो-कनाडाई उद्यमिता, व्यापारी और भारत के केन्द्रिय मन्त्री शशि थरूर की पत्नी थीं। २०१० में तत्कालीन कोच्चि आईपीएल टीम को सुनन्दा पुष्कर मिडिया के सामने आई। वो तत्कालीन विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर के साथ दिखी थीं। थरूर पर सुनन्दा के नाम पर कोच्चि टीम से ७० करोड़ ₹  भ्रष्ट तरीके से अपने नाम करने के आरोप लगे थे। इस विवाद के अनुसार थरूर ने सुनन्दा को मोहरा बनाया था। १५ जनवरी २०१४ को पुष्कर ने अपने पति के ट्विटर खाते में, कथित तौर पर पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार द्वारा उनके पति थरूर को भेजे गये संदेशों को प्रकाशित किया था, जिनसे लगता था कि उन दोनों के बीच सम्बंध हैं। उसके बाद ट्विटर पर तरार और पुष्कर के मध्य विवाद बढ़ता गया। थरूर ने विवाद को ख़त्म करने का प्रयास किया लेकिन विवाद बढ़ता गया और विवाद का अन्त तब हुआ जब थरूर और सुनन्दा ने एक संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा था, “हमारा वैवाहिक जीवन सुख से बीत रहा है और हम चाहते हैं कि यह ऐसा ही रहे।” एक ट्विटर विवाद के एक दिन बाद, १७ जनवरी २०१४ को, नई दिल्ली के चाणक्यपुरी क्षेत्र के लीला महल होटल में कमरा संख्या ३४५ में सुनन्दा मृत पायीं गई। जब वो देर शाम तक जगी तो उनके पति शशि थरूर ने उन्हें सबसे पहले मृत पाया। उन्होंने पुलिस को सूचित किया जिसके बाद उनका शव परीक्षा के लिए भेज दिया गया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.