होम राजनीति Punjab New CM: कौन हैं Charanjit Singh Channi, जो बनेंगे पंजाब के...

Punjab New CM: कौन हैं Charanjit Singh Channi, जो बनेंगे पंजाब के नए सीएम?

Punjab New CM: चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) पंजाब (Punjab) के नए मुख्यमंत्री पद के लिए चुने गए है। दो दिन के मंथन और बैठकों के बाद चरणजीत सिंह चन्नी का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए फाइनल कर दिया गया। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने रविवार की देर शाम ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी और एक तरह से आधिकारिक घोषणा भी कर दी। माना जा रहा है कि चरणजीत सिंह चन्नी सोमवार यानी आज मुख्यमत्री पद की शपथ लेंगे। आइए जानते हैं कौन हैं चरणजीत सिंह चन्‍नी?

बता दें कि चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब राज्य की चमकौर साहिब सीट से कांग्रेस के विधायक हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने आम आदमी पार्टी के चरनजीत सिंह को करीब 12 हजार वोटों से हराया था। इससे पहले 2012 के चुनावों में उन्होंने करीब 3600 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी। चरणजीत सिंह चन्नी युवा कांग्रेस से भी जुड़े रहे हैं और इस दौरान वे राहुल गांधी के करीबी भी माने जाते है।

दलित सिख चेहरा

चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब कांग्रेस में दलित नेताओं में से एक हैं। उन्हें गांधी परिवार का बेहद करीबी माना जाता है। बता दें कि भारत में सबसे अधिक दलित सिख पंजाब में हैं। इनकी संख्या लगभग 32% है। राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार दलित सिख चेहरा होना उन्हें मुख्यमंत्री बनाए जाने के पक्ष में रहा है।

उतार-चढ़ाव से भरा जीवन

2 अप्रैल 1972 को चमकौर साहिब के पास मकरोना कलां गांव में जन्मे चरणजीत ने शुरूआती शिक्षा सरकारी प्राथमिक स्कूल से की। उनके पिता का नाम एस. हरसा सिंह और माता अजमेर कौर है। उनके पिता ने अपने परिवार को आर्थिक सुरक्षा दिलाने के लिए बहुत संघर्ष किया, जिसके लिए वे मलेशिया भी चले गए। उन्होंने कड़ी मेहनत की और अंततः अपने उपक्रमों में सफल हुए। मलेशिया से लौटने के बाद चन्नी के पिता ने खरड़ शहर में एक टेंट हाउस का व्यवसाय शुरू किया और वहीं के निवासी हो गए।

ये भी पढ़ें-Punjab के नए सीएम बनें Charanjit Singh Channi, हरीश रावत ने Tweet कर दी जानकारी

कॉलेज समय में चन्नी अपने पिता के टेंट हाउस में उनकी मदद किया करते थे। इसके बाद जब स्नातक किया तो इन्होंने एक पेट्रोल पंप खोला। खरड़ नगर परिषद ने चन्नी ने पार्षद का चुनाव लड़कर अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की थी और बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी। तत्कालीन मंत्री हरनेक सिंह घंडूआ ने किसी अन्य को नगर परिषद प्रधान बन दिया लेकिन पांच साल बाद चन्नी प्रधान बने।

राहुल गांधी के बेहद करीबी

माना जाता है कि चरणजीत सिंह चन्नी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के करीबी हैं और भरोसेमंद भी हैं। वह कांग्रेस विधायक दल के नेता भी रहे हैं। मुख्यमंत्री के लिए उनके नाम को आगे लाकर कांग्रेस ने बीजेपी, अकाली दल, बीएसपी और आम आदमी पार्टी की रणनीति पर पानी फेरने की भी कोशिश की है क्योंकि देश में सबसे ज्यादा दलित वोट पंजाब में हैं। यहां करीब 35 फीसदी दलित वोट हैं और करीब 34 विधानसभा सीट पर इनका प्रभाव दिखाई देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Bigg Boss 15: Gauahar Khan ने Karan Kundra और तेजस्वी प्रकाश की खिंचाई की, कहा- जो पॉपुलर हैं उनके लिए कोई rules नहीं

Bigg Boss 15: अभिनेत्री गौहर खान (Gauahar Khan) ने गुरुवार को कहा कि वह हाल ही में बिग बॉस 15 के घर के अंदर हुई घटनाओं से हैरान हैं। उन्होंने प्रतियोगियों करण कुंद्रा (Karan Kundra) और तेजस्वी प्रकाश (Tejasswi Prakash) को जमकर फटकार लगाई बता दें कि एक एपिसोड में एक टास्क के दौरान करण के गुस्सा होने के बाद उनका यह रिएक्शन आया है। उन्होंने प्रतीक सहजपाल को गले से पकड़कर जमीन पर पटक दिया था।

Gold Price Today : Festive Season में सोने की कीमतों में आई गिरावट, इतने घटे दाम

Gold Price Today : भारत में सोने की कीमत आज 200 रुपये प्रति 100 ग्राम कम हो गई, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमती धातु की दर बढ़ गई है।

Petrol- Diesel Price Today : जानें क्‍या है आपके शहर में Petrol – Diesel का नया रेट

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में शुक्रवार को फिर से तेजी आई है और देश भर में एक और रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 106.89 रुपये प्रति लीटर है, जिसमें कि 35 पैसे की बढ़त हुई है, जबकि डीजल की दर 35 पैसे बढ़कर 95.62 रुपये प्रति लीटर है।

Varun Gandhi का योगी सरकार पर हमला, बोले- अगर सब कुछ जनता को खुद ही करना है तो फिर सरकार की जरूरत क्या है?

वरुण गांधी मुखर होकर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। इसी क्रम में वरुण ने एक बार फिर से योगी सरकार पर करारा हमला किया है। वरुण ने यूपी सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि अगर सब कुछ जनता को खुद ही करना है तो फिर सरकार की जरूरत क्या है?